गुरुवार, 21 नवम्बर 2019 | समय 01:25 Hrs(IST)

बक्सर

बिहार

मैप पर क्लिक कर जानें अपने राज्य की डिटेल्स

मैप 2019 नतीजों पर आधारित हैं

तीखे बयान

  • मतदान की तारीख: 19 मई
  • जनसंख्या: 1640671
  • अश्विनी कुमार चौबे
  • अश्विनी कुमार चौबे
  • भारतीय जनता पार्टी

पौराणिक कथाओं में और भारत के इतिहास में बक्सर की धरती को बहुत ही पवित्र माना जाता है। विश्वामित्र का आश्रम यहीं था। कहा जाता है भगवान राम और लक्ष्मण को प्रारंभिक शिक्षा यहीं से मिली थी। 1764 में बक्सर की लड़ाई इतिहास में दर्ज है। 2014 में इस सीट पर अश्विनी चौबे ने भाजपा प्रत्याशी के रुप में चुनाव लड़ा और 3 लाख 19 हजार 12 वोट लाकर जीत दर्ज की। राजद के सदानंद सिंह को 1 लाख 86 हजार 674 वोट प्राप्त हुए। जबकि बसपा प्रत्याशी ददन पहलवान 1 लाख 84 हजार 788  वोट लाकर तीसरे स्थान पर रहे।


1952 में निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में यहां से महाराजा कमल सिंह ने पहला चुनाव जीता। 1957 में भी महाराजा कमल सिंह दोबारा चुनाव जीतते हैं। 1962 में इस सीट पर कांग्रेस के आनंद प्रसाद शर्मा यहां से जीतकर संसद जाते हैं। 1977 में पंडित रामानंद तिवारी ने यहां से जीत दर्ज की। 1996 से 2004 तक इस सीट पर भाजपा का कब्जा रहा और लाल मुनि चौबे यहां से सांसद रहे। बक्सर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत विधानसभा की छह सीटें आती हैं-


ब्रह्मपुर

बक्सर

....

ताज़ा खबर

तीखे बयान

निर्वाचन क्षेत्र के उम्मीदवार

ताज़ा आलेख