मंगलवार, 18 फरवरी 2020 | समय 01:01 Hrs(IST)

पुलवामा हमले की बरसी पर माकपा ने पूछा- जांच रिपोर्ट कहां है ? किसे जवाबदेह ठहराया गया

By LSChunav | Publish Date: 2/14/2020 4:31:28 PM
पुलवामा हमले की बरसी पर माकपा ने पूछा- जांच रिपोर्ट कहां है ? किसे जवाबदेह ठहराया गया

पुलवामा हमले की पहली बरसी पर माकपा ने घटना की जांच रिपोर्ट के बारे में सरकार से सवाल किया और यह बताने को कहा कि इसके लिए किसे जवाबदेह ठहराया गया ? साथ ही, पार्टी ने इस हमले में मारे गए सीआरपीएफ जवानों के नाम पर भाजपा पर वोट मांगने का भी आरोप लगाया।

नयी दिल्ली। पुलवामा हमले की पहली बरसी पर माकपा ने घटना की जांच रिपोर्ट के बारे में सरकार से सवाल किया और यह बताने को कहा कि इसके लिए किसे जवाबदेह ठहराया गया ? साथ ही, पार्टी ने इस हमले में मारे गए सीआरपीएफ जवानों के नाम पर भाजपा पर वोट मांगने का भी आरोप लगाया। गौरतलब है कि जैश ए मोहम्मद के आतंकवादी अदील अहमद डार ने पिछले साल 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर सुरक्षाकर्मियों के काफिले के आगे विस्फोटकों से लदी अपनी कार ले जाने के बाद विस्फोट कर खुद को उड़ा दिया था। इस हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 40 जवान शहीद हो गए थे। 

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने ट्वीट कर पूछा, ‘‘आतंकी हमले के साल भर बाद जांच रिपोर्ट कहां है? इतनी सारी मौतों के लिए और खुफिया तंत्र की बड़ी नाकामी के लिए किसे जवाबदेह ठहराया गया? ’’ उन्होंने सीआरपीएफ के शहीद कर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित की और भाजपा पर शहीद सुरक्षाकर्मियों के नाम पर वोट मांगने का आरोप लगाया। येचुरी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘(प्रधानमंत्री नरेंद्र) मोदी और भाजपा ने पुलवामा के शहीदों के नाम पर वोट मांगा। जिन्होंने राष्ट्र की खातिर अपने प्राण न्यौछावर कर दिए उनके परिजनों के लिए क्या किया गया?’’

इसे भी पढ़ें: लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद से सहानुभूति रखने वाले राहुल ने सुरक्षा बलों का किया अपमान: भाजपा

इससे पहले उस वक्त एक विवाद पैदा हो गया जब कांग्रेस नेता राहुल गांधी और माकपा नेता मोहम्मद सलीम ने इस हमले को लेकर सरकार से सवाल किये। सलीम ने कहा कि पुलवामा हमला ‘अक्षमता’ का नतीजा था। उन्होंने शहीद कर्मियों के लिए एक स्मारक बनाने की जरूरत पर सवाल करते हुए यह कहा। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘हमारी अक्षमता की याद दिलाने के लिए हमें किसी स्मारक की जरूरत नहीं है। हम सिर्फ यह जानना चाहते हैं कि 80 किलोग्राम आरडीएक्स (विस्फोटक) अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर धरती के सर्वाधिक सैन्यीकृत क्षेत्र में कैसे पहुंचा और पुलवामा में विस्फोट हुआ। पुलवामा हमले में न्याय करने की जरूरत है।’’ 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पुलवामा हमले में शहीद हुए सुरक्षाकर्मियों को शुक्रवार को श्रद्धांजलि अर्पित की और ट्विटर पर लिखा, ‘‘इस हमले में शहीद हुए 40 जवानों को आज हम याद कर रहे हैं तो हमें यह पूछना है कि इस हमले से सबसे ज्यादा फायदा किसको हुआ? उन्होंने यह सवाल भी किया कि  हमले की जांच में क्या निकला? हमले का कारण रही सुरक्षा चूक के लिए भाजपा सरकार में अब तक किसे जवाबदेह ठहराया गया है?  वहीं, भाजपा ने फौरन ही राहुल के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन पर लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी संगठनों से ‘‘सहानुभूति रखने का’’ आरोप लगाया।


Related Story

तीखे बयान