शनिवार, 19 अक्तूबर 2019 | समय 18:55 Hrs(IST)

राज्यसभा की पांच स्थायी समितियों की अध्यक्षता विपक्ष के सदस्य करेंगे

By LSChunav | Publish Date: Sep 15 2019 11:42AM
राज्यसभा की पांच स्थायी समितियों की अध्यक्षता विपक्ष के सदस्य करेंगे

राज्यसभा की समितियों में से कांग्रेस सदस्य आनंद शर्मा गृह मामलों से संबंधित स्थायी समिति अध्यक्षता करेंगे जबकि उनकी पार्टी के सहयोगी जयराम रमेश विज्ञान, प्रौद्योगिकी, पर्यावरण एवं वन संबंधित स्थायी समिति की अध्यक्षता करेंगे।

नयी दिल्ली। राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने आठ विभागों से संबंधित पांच स्थायी समितियों (डीआरएससी) का अध्यक्ष विपक्ष के सदस्यों को बनाने को मंजूरी दी है। इन आठ समितियों में से सत्तारूढ़ भाजपा को तीन समितियों की अध्यक्षता मिली है।विपक्ष ने पिछले दो वर्षों के दौरान चार समितियों की अध्यक्षता की थी। नायडू ने लोकसभा की विभाग संबंधित 16 स्थायी समितियों में राज्यसभा सदस्यों के मनोनयन को भी मंजूरी दी। राज्यसभा की समितियों में से कांग्रेस सदस्य आनंद शर्मा गृह मामलों से संबंधित स्थायी समिति अध्यक्षता करेंगे जबकि उनकी पार्टी के सहयोगी जयराम रमेश विज्ञान, प्रौद्योगिकी, पर्यावरण एवं वन संबंधित स्थायी समिति की अध्यक्षता करेंगे।
भाजपा के सत्यनारायण जटिया मानव संसाधन विकास से संबंधित स्थायी समिति की अध्यक्षता करेंगे जबकि उनकी पार्टी के सहयोगी भूपेन्द्र यादव कार्मिक, लोक शिकायत, विधि और न्याय संबंधित स्थायी समिति की अध्यक्षता करेंगे और टी जी वेंकटेश परिवहन, पर्यटन और संस्कृति मामलों से संबंधित स्थायी समिति की अध्यक्षता करेंगे। समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण से संबंधित स्थायी समिति की अध्यक्षता करेंगे। तेलंगाना राष्ट्र समिति के के.केशव राव को उद्योग से संबंधित स्थायी समिति के अध्यक्ष के रूप में मनोनीत किया गया है जबकि वाईएसआर कांग्रेस के वी. विजय साई रेड्डी वाणिज्य से संबंधित स्थायी समिति की अध्यक्षता करेंगे।
पिछले दो वर्षों के दौरान राज्यसभा की आठ स्थायी समिति में से चार समितियों की अध्यक्षता उच्च सदन के विपक्षी सदस्यों ने की है और विपक्ष को इस वर्ष एक और समिति की अध्यक्षता मिली है। मुख्य विपक्षी कांग्रेस ने अपने कोटे की दो समितियों की अध्यक्षता को बरकरार रखा है। सू्त्रों ने बताया कि इन समितियों के गठन से पहले सभापति नायडू ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी से चर्चा की थी।
 


Related Story

तीखे बयान