लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान क्यों पीए नरेंद्र मोदी के खिलाफ आग उगल रहे हैं सिद्धू?

LSChunav     May 06, 2019
शेयर करें:   
लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान क्यों पीए नरेंद्र मोदी के खिलाफ आग उगल रहे हैं सिद्धू?

उन्होंने कहा कि मोदी ने 2014 में 300 से अधिक वादे किए थे, जिसमें गंगा नदी की सफाई, प्रति वर्ष दो करोड़ रोजगार पैदा करना और हरेक के बैंक खाते में 15 लाख रुपये जमा करना शामिल था, लेकिन इसमें से कोई भी नहीं हुआ।

नयी दिल्ली। कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि वह 2014 में गंगा को साफ करने के वादे के साथ सत्ता में आए थे, लेकिन 2019 में राफेल के धब्बे के साथ सत्ता से बाहर हो जाएंगे। पार्टी के नयी दिल्ली के उम्मीदवार अजय माकन के पक्ष में प्रचार करते हुए सिद्धू ने यहां एक रोड शो भी किया।
नवजोत सिंह सिद्धू ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सिर्फ झूठ बोलना आता है। वो फरेब करने के अलावा कुछ नहीं करते। सिद्धू ने मोदी पर हमला जारी करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री स्वयं के चौकीदार होने का दावा करते हैं लेकिन वह अडानी और अंबानी जैसे कुछ औद्योगिक घरानों का चौकीदारी ही करते हैं। नोटबंदी को सबसे बड़ा घोटाला बताते हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि प्रधानमंत्री ने देश की अर्थव्यवस्था को हाशिए पर लाकर खड़ा कर दिया है और भाजपा के बड़े नेताओं ने इस बहाने अपने प्रतिनिधित्व वाले क्षेत्रीय बैंकों के माध्यम से नोट बदलने का काम किया है।
उन्होंने दावा किया कि मोदी सरकार के पास अपने नाम की एक भी उपलब्धि नहीं है और वह वास्तविक मुद्दों से ध्यान भटका रही है।पंजाब के मंत्री ने कहा, ‘‘2014 में, मोदी ने कहा था कि न खाऊंगा, न खाने दूंगा लेकिन उन्होंने इसके ठीक उलट किया है।’’
 
उन्होंने कहा कि मोदी ने 2014 में 300 से अधिक वादे किए थे, जिसमें गंगा नदी की सफाई, प्रति वर्ष दो करोड़ रोजगार पैदा करना और हरेक के बैंक खाते में 15 लाख रुपये जमा करना शामिल था, लेकिन इसमें से कोई भी नहीं हुआ। सिद्धू ने कहा, ‘‘वह 2014 में गंगा को साफ करने के लिए वोट मांगकर सत्ता में आये थे, लेकिन वह 2019 में राफेल के दागी बनकर जाएंगे।’’