शुक्रवार, 5 जून 2020 | समय 20:13 Hrs(IST)

PM मोदी के साथ बातचीत के लिए तैयार हैं ममता, बोलीं- पहले CAA को वापस लिया जाए

By LSChunav | Publish Date: 1/28/2020 6:20:49 PM
PM मोदी के साथ बातचीत के लिए तैयार हैं ममता, बोलीं- पहले CAA को वापस लिया जाए

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि वह सीएए के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत करने के लिए तैयार हैं लेकिन केंद्र को पहले इस विवादास्पद कानून को वापस लेना होगा। पश्चिम बंगाल विधानसभा ने सोमवार को सीएए के खिलाफ एक प्रस्ताव पारित किया।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि वह संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत करने के लिए तैयार हैं लेकिन केंद्र को पहले इस विवादास्पद कानून को वापस लेना होगा। ममता ने कहा कि केंद्र के फैसलों के खिलाफ प्रदर्शन करने से विपक्षी पार्टियां राष्ट्र विरोधी नहीं हो जातीं। उन्होंने एक बार फिर से कहा कि वह राज्य में सीएए, राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) या राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) लागू नहीं करेंगी। 

इसे भी पढ़ें: विजयवर्गीय की पोहा टिप्पणी पर बरसीं ममता, बोलीं- किसने उन्हें ये कहने का अधिकार दिया

पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने कहा, ‘‘यह अच्छा है कि प्रधानमंत्री बातचीत के लिए तैयार हैं लेकिन पहले संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को रद्द किया जाना चाहिए। उन्होंने (केंद्र ने) कश्मीर या सीएए पर फैसला करने से पहले सर्वदलीय बैठक नहीं बुलाई।’’ भाजपा की कटु आलोचक ममता ने पेंटिग के जरिए सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘हम बातचीत के लिए तैयार हैं लेकिन पहले सीएए वापस लिया जाए।’’

इसे भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल में भी CAA के खिलाफ प्रस्ताव पारित, जानें अब तक कहा-कहा हुआ

पश्चिम बंगाल विधानसभा ने सोमवार को सीएए के खिलाफ एक प्रस्ताव पारित किया। इस तरह, ऐसा करने वाला वह केरल, पंजाब और राजस्थान के बाद चौथा राज्य बन गया। उल्लेखनीय है कि राज्य विधानसभा ने छह सितंबर 2019 को एनआरसी के खिलाफ एक प्रस्ताव पारित किया था। 

इसे भी देखें : NPR क्या है और कैसे गिने जाएंगे नागरिक


Related Story

तीखे बयान