रविवार, 21 जुलाई 2019 | समय 00:17 Hrs(IST)

राम माधव के आकलन को राव ने किया खारिज, कहा- राजग की सीटों की संख्या 300 के पार होंगी

By LSChunav | Publish Date: May 17 2019 12:53PM
राम माधव के आकलन को राव ने किया खारिज, कहा-  राजग की सीटों की संख्या 300 के पार होंगी

राव ने कहा, ‘‘मेरी राय में हमें 300 से ज्यादा सीटें मिलेगी या अपनी खुद की 280 से अधिक सीटें मिलेंगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम इसे राजग सरकार बता रहे हैं। 2014 में भी हमने राजग सरकार बनाई थी लेकिन हमें अपना खुद का बहुमत मिला था। तो यही स्थिति जारी रहेगी।’’ मोदी ने इस सप्ताह बिहार में एक रैली में कहा था कि भाजपा की खुद की सीटें 300 का आंकड़ा पार करेंगी।

नयी दिल्ली। भाजपा नेता राम माधव के आकलन को खारिज करते हुए पार्टी के वरिष्ठ नेता पी मुरलीधर राव ने कहा कि भगवा पार्टी को 280 से अधिक सीटें मिलेंगी जबकि राजग की सीटों की संख्या 300 के पार होंगी। राम माधव ने कहा था कि भाजपा को सरकार बनाने के लिए सहयोगियों के समर्थन की जरुरत होगी। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि बसपा सुप्रीमो मायावती और समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव जैसे क्षेत्रीय नेता राष्ट्रीय संदर्भ में अप्रासंगिक है।

इसे भी पढ़ें: भाजपा के लिए 280 के आंकड़े पर पहुंचना मुश्किल दिख रहा है: शिवसेना

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनके तेलंगाना के समकक्ष के चंद्रशेखर राव पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि हर कोई प्रधानमंत्री बनने के बारे में सोच रहा है वो भी यह सोचे बिना कि उनकी पार्टी को चुनाव में कितनी सीटें मिलेंगी। हाल के साक्षात्कार में माधव की टिप्पणी पर चर्चा करते हुए राव ने कहा, ‘‘मेरी पूरी पार्टी उनसे सहमत नहीं है। केवल मैं अकेला नहीं हूं। मेरी पार्टी के अध्यक्ष, मेरे प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और मेरी पार्टी ने उनके विचारों पर असहमति जताई है और मुझे भी मालूम चला कि उन्होंने अपने साक्षात्कार के बाद अपनी राय बदल ली है।’’

इसे भी पढ़ें: स्वामी के बाद अब राम माधव को भी संदेह, लेनी पड़ सकती है सहयोगियों की मदद

राव ने कहा, ‘‘मेरी राय में हमें 300 से ज्यादा सीटें मिलेगी या अपनी खुद की 280 से अधिक सीटें मिलेंगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम इसे राजग सरकार बता रहे हैं। 2014 में भी हमने राजग सरकार बनाई थी लेकिन हमें अपना खुद का बहुमत मिला था। तो यही स्थिति जारी रहेगी।’’ मोदी ने इस सप्ताह बिहार में एक रैली में कहा था कि भाजपा की खुद की सीटें 300 का आंकड़ा पार करेंगी। राव के अनुसार, कांग्रेस और विपक्षी दल भाजपा से लड़ने के लिए एक संयुक्त मोर्चा नहीं बना पाए। पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी ने 19 मई को आखिरी चरण के चुनाव के मद्देनजर कहा, ‘‘हालांकि वे हमें संयुक्त चुनौती देना चाहते थे लेकिन वे ऐसा कर नहीं पाए।’’

इसे भी पढ़ें: क्षेत्रीय दलों के गठबंधन की सरकार अस्थिर होगी और लंबे समय तक नहीं चल पाएगी: मोइली

उत्तर प्रदेश में पार्टी की संभावित सीटों के बारे में राव ने कहा कि केंद्र में सरकार होने के कारण भाजपा की स्थिति मजबूत देखी जा रही है। उन्होंने कहा, ‘‘इसके कारण लोग मायावती को दिल्ली के लिए कोई विकल्प नहीं मानते। अखिलेश यादव भी दिल्ली के लिए कोई विकल्प नहीं है। यहां तक कि इन पार्टियों के मतदाता भी सोचते हैं कि हमें क्यों इस पार्टी के लिए वोट करना चाहिए जब वे दिल्ली के संदर्भ में प्रासंगिक नहीं हैं।’’ उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन का जिक्र करते हुए राव ने कहा कि उनकी राजनीति राज्य में काम नहीं आएगी और भाजपा उत्तर प्रदेश तथा पूरे उत्तर भारत में अपनी स्थिति में सुधार करेगी। केसीआर की टिप्पणी कि अगला प्रधानमंत्री दक्षिण भारत से होना चाहिए, इस पर राव ने कहा कि हर कोई प्रधानमंत्री बनने के बारे में सोच रहा है चाहे उनके पास पर्याप्त सीटें हो या नहीं। राव ने कहा कि पार्टी को इस बार भी राजस्थान में सभी सीटें मिलेंगी।

इसे भी पढ़ें: आज ही के दिन नरेंद्र मोदी की आंधी में उड़ गए थे विरोधी, 2019 में मोदी आएंगे या जाएंगे?

बिहार के बारे में उन्होंने कहा कि राज्य में मोदी लहर चल रही है। राव ने कहा कि कांग्रेस और विपक्षी दलों द्वारा उठाए भ्रष्टाचार और राफेल विमान सौदे का मुद्दा उनके खिलाफ ही गया है। उन्होंने कहा, ‘‘राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और सभी विपक्षी दलों को 23 मई के बार इसका अहसास होगा। मैं देश के कई हिस्सों में गया और वहां मैंने लोगों से बात की और वहां वह यह मानने के लिए तैयार नहीं हैं कि मोदी भ्रष्ट हो सकते हैं। इसलिए उन पर हमला करके कांग्रेस या पूरे विपक्ष को कोई फायदा नहीं मिला।’’


Related Story

तीखे बयान