सोमवार, 16 दिसम्बर 2019 | समय 14:17 Hrs(IST)

हमारी सरकार ने गांव और शहर का भेद खत्म किया है: योगी आदित्यनाथ

By LSChunav | Publish Date: 12/3/2019 7:08:33 PM
हमारी सरकार ने गांव और शहर का भेद खत्म किया है: योगी आदित्यनाथ

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विकास ही खुशहाली का एकमात्र जरिया है। कैबिनेट ने मंगलवार को संतकबीर नगर की बेलहर कला और बेहलर खुर्द ग्राम पंचायत को नगर पंचायत बनाने का फैसला लिया है। आने वाले समय में नगर पंचायतों की संख्या और बढेगी। नगर पालिकाओं और नगर निगम की सीमाओं का भी विस्तार किया जाएगा।

गोरखपुर। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कैम्पियरगंज तहसील के ग्राम बान (बढ़या ठाठर) पीपीगंज-मेंहदावल मार्ग पर राप्ती नदी पर बने सेतु का लोकार्पण किया। इस मौके पर उन्होंने गोरखपुर व संतकबीर नगर से जुड़ी 17,920 लाख रुपये से अधिक की 14 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया। एक बयान के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने कहा है कि गोरखपुर और संतकबीर नगर की जनता ठाठर पुल की मांग लंबे समय से कर रही थी। आज दोनों जिलों के लोगों का ये सपना साकार हुआ है।

इसे भी पढ़ें: जनता और पुलिस को एकदूसरे के प्रति नजरिया बदलने की जरूरत है: अमित शाह

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास ही खुशहाली का एकमात्र जरिया है। कैबिनेट ने मंगलवार को संतकबीर नगर की बेलहर कला और बेहलर खुर्द ग्राम पंचायत को नगर पंचायत बनाने का फैसला लिया है। आने वाले समय में नगर पंचायतों की संख्या और बढेगी। नगर पालिकाओं और नगर निगम की सीमाओं का भी विस्तार किया जाएगा इससे लोगों को और बेहतर बुनियादी सुविधाएं मिलेंगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिना भेदभाव के विकास की सोच को 2014 में आगे बढ़ाया था, आदर्श ग्राम और स्मार्ट सिटी भी उसी की कड़ी हैं। हमारी सरकार ने गांव और शहर के बीच का भेद खत्म किया है। अब प्रदेश का हर जिला और हर नागरिक खास है। ढाई वर्ष पहले कुछ ही जिलों को बिजली मिलती थी। आजादी के बाद से हजारों गांवों को बिजली नहीं मिली मगर हमारी सरकार ने एक करोड़ 80 लाख लोगों के घरों में बिजली पहुंचाई, धान क्रय केंद्र खोले, गन्ना मूल्य का भुगतान किया और बन्द चीनी मिलों को चलाया है।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में शिवसेना के साथ गठबंधन कर नया प्रयोग कर सकती है कांग्रेस

आदित्यनाथ ने कहा कि पहले की सरकारें योजनाओं का लाभ देने के लिए लोगों का चेहरा, जाति और मजहब देखती थीं, पर हमारा एकमात्र मानक सिर्फ पात्रता है। इसी आधार पर अब तक हमने आवास, शौचालय, रसोई गैस कनेक्शन, राशन कार्ड, विधवा और विकलांग पेंशन के जरिए लोगों को लाभान्वित किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले उत्तरप्रदेश की पहचान दंगा और और अराजकता वाले राज्य के तौर पर थी। आज कानून-व्यवस्था, सुशासन और तरक्की नई पहचान है। वर्ष 1947 से लेकर 2016 तक देश में केवल 12 मेडिकल कॉलेज थे, मगर हमारी सरकार में 2017 से 2019 तक 15 नए मेडिकल कॉलेज का निर्माण किया जा रहा है। इस साल 14 और नए मेडिकल कॉलेजों को स्वीकृति मिलेगी। इस प्रकार 3 वर्षों में 29 मेडिकल कॉलेज बनाये जाएंगे।

आदित्यनाथ ने कहा कि मेडिकल कॉलेजों में पढ़ने वाले डॉक्टरों से बांड भरवाए जा रहे हैं ताकि वो कम से कम 2 वर्षों तक ग्रामीण क्षेत्रों में अपनी सेवाएं दे सकें। उन्होंने कहा कि अन्य प्रदेशों एवं नेपाल को जोडने वाले मार्गों को फोर लेन किया जा रहा है। जिला मुख्यालयों, तहसील एवं विकास खंडों को फोरलेन और टू लेन की सडकों से जोड़ने की योजना है।

इसे भी पढ़ें: झारखंड में बोले योगी, मोदी और शाह ने अनुच्छेद 370 को हटाने का साहस दिखाया

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर युद्ध स्तर पर कार्य चल रहा है। बुंदेलखंड को भी तेजी से आगे बढ़ाने के लिए बुंदेलखंड ऐक्सप्रेसवे का भी निर्माण किया जा रहा है। वहीं मेरठ से प्रयागराज को जोड़ने वाले देश के सबसे बड़ा गंगा एक्सप्रेसवे का निर्माण किया जा रहा है। वर्ष 2023 तक जेवर में एयरपोर्ट का निर्माण पूरा हो जाएगा। इससे करीब एक लाख करोड़ से अधिक की आय होगी। जेवर एअरपोर्ट और तीनों एक्सप्रेससवे के शुरू हो जाने से रोजगार की संभावनाएं और प्रतिव्यक्ति आय भी बढेगी।


Related Story

तीखे बयान