शनिवार, 14 दिसम्बर 2019 | समय 18:03 Hrs(IST)

चुनावी बॉण्ड और BPCL के विनिवेश मुद्दे को लेकर कांग्रेस का लोकसभा में हंगामा

By LSChunav | Publish Date: 11/21/2019 1:01:50 PM
चुनावी बॉण्ड और BPCL के विनिवेश मुद्दे को लेकर कांग्रेस का लोकसभा में हंगामा

कांग्रेस ने चुनावी बॉण्ड के मुद्दे पर चर्चा करने के लिए कार्य स्थगन नोटिस दिया था। बिरला ने प्रश्नकाल आरंभ किया। इस बीच, कांग्रेस के सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के निकट पहुंच गए।

नयी दिल्ली। कांग्रेस के सदस्यों ने बीपीसीएल के विनिवेश के सरकार के फैसले के खिलाफ और चुनावी बॉण्ड के मुद्दे को लेकर बृहस्पतिवार को लोकसभा में हंगामा किया। सदन की कार्यवाही आरंभ होने के साथ ही लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने चुनावी बॉन्ड का मुद्दा उठाने की कोशिश की, लेकिन स्पीकर ओम बिरला ने इसकी अनुमति नहीं दी। 

इसे भी पढ़ें: निर्मला सीतारमण का बड़ा ऐलान, BPCL समेत 5 सरकारी कंपनियों को बेचा जाएगा

कांग्रेस ने चुनावी बॉण्ड के मुद्दे पर चर्चा करने के लिए कार्य स्थगन नोटिस दिया था। बिरला ने प्रश्नकाल आरंभ किया। इस बीच, कांग्रेस के सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के निकट पहुंच गए। उन्होंने ‘चुनावी बॉन्ड का चंदा बंद करो’ और ‘बीपीसीएल को बेचना बंद करो’ के नारे लगाए। लोकसभा अध्यक्ष ने कांग्रेस सदस्यों से अपनी जगह पर जाने की अपील करते हुए कहा कि सदन में युवा एवं खेल जैसे महत्वपूर्ण विषय पर चर्चा हो रही है, ऐसे में नारेबाजी नहीं करना चाहिए।

इसके बाद कई सदस्यों ने कहा कि वह जो मुद्दा उठा रहे हैं वह भी महत्वपूर्ण है। इस पर बिरला ने कहा कि आसन के समक्ष खड़े होकर आसन से बात नहीं करें। उन्होंने कहा कि जब कार्यस्थगन प्रस्ताव पर कोई निर्णय नहीं हुआ तो फिर आसन के निकट आकर नारेबाजी करना ठीक नहीं है। अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि ऐसे महत्वपूर्ण मुद्दे आ जाते हैं कि उन्हें कार्य स्थगन प्रस्ताव देना पड़ता है और आसन का किसी तरह से अनादर करने की कांग्रेस सदस्यों की कोई मंशा नहीं है।

इसे भी पढ़ें: अभूतपूर्व आर्थिक संकट का कारण सरकार का ‘सांठगांठ से चलने वाला पूंजीवाद’: येचुरी

संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबसे साफ-सुथरी सरकार चला रहे हैं और इसमें भ्रष्टाचार की गुंजाइश नहीं है। शून्यकाल में मुद्दा उठाने का आश्चासन मिलने के बाद कांग्रेस सदस्य अपने स्थान पर चले गए और बिरला ने प्रश्नकाल को आगे बढ़ाया। 


Related Story

तीखे बयान