''...तो क्या पाकिस्तान में लगाएंगे जय श्री राम के नारे'' - अमित शाह

LSChunav     May 07, 2019
शेयर करें:   
...तो क्या पाकिस्तान में लगाएंगे जय श्री राम के नारे - अमित शाह

अमित शाह ने कहा कि वह ममता दीदी से पूछना चाहते हैं कि श्रीराम का नाम भारत में नहीं लेंगे तो क्या पाकिस्तान में लेंगे? हमारे आराध्य देव श्रीराम हैं और हम उनका नारा लगाएंगे।

घाटाल (पश्चिम बंगाल)। भाजपा अध्यक्ष  पश्चिम बंगाल मेदिनीपुर में अमित शाह ने इस मुद्दे पर ममता बनर्जी को आड़े हाथों लिया। शाह ने मंच से श्रीराम जय के नारे लगाए और बोले, जो बन पड़ता है उखाड़ लो। उन्होंने हैरानी जतायी कि अगर ‘राम’ का नाम भारत में नहीं लिया जा सकता, तो क्या पाकिस्तान में लिया जायेगा। एक चुनावी सभा को यहां संबोधित कर रहे शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में चुनाव राज्य में लोकतंत्र बहाल करने के लिये है। उन्होंने कहा कि भाजपा यहां 42 लोकसभा सीटों में से 23 से अधिक सीटें जीतेगी। 

इसे भी पढ़ें: ममता से शाह ने किया सवाल, पूछा- आप संविधान पर विश्वास करती हैं या नहीं?

शाह ने कहा, ‘‘भगवान राम भारत की संस्कृति का हिस्सा हैं... क्या कोई उनका नाम लेने से किसी को रोक सकता है? मैं ममता दीदी से पूछना चाहता हूं कि अगर श्रीराम का नाम भारत में नहीं लिया जायेगा तो क्या यह पाकिस्तान में जपा जायेगा।’’ अमित शाह ने कहा कि वह ममता दीदी से पूछना चाहते हैं कि श्रीराम का नाम भारत में नहीं लेंगे तो क्या पाकिस्तान में लेंगे? हमारे आराध्य देव श्रीराम हैं और हम उनका नारा लगाएंगे।
 
सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें यह नजर आ रहा है कि बनर्जी शनिवार को पश्चिम मिदनापुर जिले में एक जगह पर अपनी कार रोकती हैं और वहां ‘‘जय श्री राम’’ का उद्घोष कर रहे कुछ लोगों को खदेड़ती हैं। मुख्यमंत्री का काफिला उसी इलाके से होकर गुजर रहा था। शाह ने दावा किया, ‘‘नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने पांच साल के कार्यकाल में पश्चिम बंगाल को 4,24,800 करोड़ रुपये दिये लेकिन यह राशि जनता तक पहुंचने के बजाय सिंडिकेट को पहुंच गयी।’’ उन्होंने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली संप्रग-2 सरकार में राज्य को सिर्फ 1,32,000 करोड़ रुपये आवंटित किये गए थे। पश्चिम मिदनापुर जिले के केशियारी में एक अन्य चुनावी सभा को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह कह कर क्या गलत किया कि बोफोर्स घोटाला राजीव गांधी के कार्यकाल में हुआ था।’’
 
भाजपा अध्यक्ष उत्तर प्रदेश में एक रैली में मोदी द्वारा कथित तौर पर की गई कुछ टिप्पणियों का जिक्र कर रहे थे। मोदी ने कहा था कि राजीव गांधी का जीवन ‘‘भ्रष्टाचारी नंबर 1’’ के रूप में खत्म हुआ। उन्होंने कहा, ‘‘राहुल बाबा कहते हैं कि उनके पिता का अपमान हुआ है। क्या जो भी हुआ, उसे याद करना अपमान है ?’’शाह ने राहुल गांधी से यह भी पूछा कि क्या बोफोर्स घोटाला, भोपाल गैस त्रासदी, श्रीलंका में शांतिसैनिकों को भेजने की भूल या कश्मीरी पंडितों का नरसंहार प्रधानमंत्री रहते हुए उनके पिता के कार्यकाल में 1984 से 1989 के दौरान नहीं हुआ।उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस और ‘महागठबंधन’ में उसकी सहयोगी पार्टियों ने ‘‘51 अलग-अलग मौकों पर’’ मोदी को अपशब्द कहे हैं। भाजपा प्रमुख ने बांग्लादेश से आये अवैध प्रवासियों को देश से निकालने के लिये राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) को लागू करने की अपनी पार्टी की प्रतिबद्धता दोहराई।