बुधवार, 12 अगस्त 2020 | समय 02:42 Hrs(IST)

नमामि गंगे अभियान से गंगा नदी के पानी की गुणवत्ता सुधरी: अमित शाह

By LSChunav | Publish Date: 3/13/2020 4:13:44 PM
नमामि गंगे अभियान से गंगा नदी के पानी की गुणवत्ता सुधरी: अमित शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र सरकार के ‘नमामि गंगे’ अभियान से गंगा नदी के पानी की गुणवत्ता सुधरी है। यह कार्यक्रम पिछले साल 10 अक्टूबर से 12 नवंबर तक चला था और नौसेना, वायुसेना एवं नौसेना के कर्मियों ने राफ्टिंग एवं नौकायन जागरूकता अभियान में हिस्सा लिया था।

नयी दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र सरकार के ‘नमामि गंगे’ अभियान से गंगा नदी के पानी की गुणवत्ता सुधरी है। शाह ने कहा कि देश की अति महत्वपूर्ण नदियों में एक गंगा को स्वच्छ बनाने की यह परियोजना सफल रही है और सरकार देश की अन्य नदियों को साफ करने के लिए संबंधित राज्य सरकारों के साथ मिलकर ऐसी ही अन्य पहल करेगी। 

इसे भी पढ़ें: जब दिल्ली जल रही थी तब अमित शाह जी क्या कर रहे थे?: अधीर रंजन चौधरी

शाह ‘गंगा आमंत्रण अभियान’ के सहभागियों के स्वागत समारोह कार्यक्रम में बोल रहे थे। यह उत्तराखंड के देवप्रयाग से लेकर पश्चिम बंगाल के गंगासागर तक करीब नदी में 2510 किलोमीटर की दूरी तय करने का महीने भर का खुले पानी में राफ्टिंग और कायकिंग (छोटी नाव से नौकायन) अभियान था। 

यह कार्यक्रम पिछले साल 10 अक्टूबर से 12 नवंबर तक चला था और नौसेना, वायुसेना एवं नौसेना के कर्मियों ने राफ्टिंग एवं नौकायन जागरूकता अभियान में हिस्सा लिया था। इस अभियान का लक्ष्य लोगों के बीच नदी के महत्व और इतिहास के बारे में जागरूकता फैलाना है। शाह ने कहा कि इतने सालों के दौरान हम अपनी मां समान गंगा का संरक्षण एवं सुरक्षा करना संभवत: भूल गये थे लेकिन 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किया गया नमामि गंगे अभियान गंगा के पानी की गुणवत्ता में एक बड़ा बदलाव लाया।

इसे भी पढ़ें: सिंधिया के फैसले में व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा ने अहम भूमिका निभाई: अधीर रंजन चौधरी

उन्होंने कहा कि जो लोग पिछले साल प्रयागराज में कुंभ मेले में पहुंचे, वे इस तथ्य के गवाह बने। शाह ने कहा कि विभिन्न गंगा मिशनों का लक्ष्य यह सुनिश्चित करना है कि लोगों को इस नदी के पारिस्थितिकीय, सांस्कृतिक और ऐतिहासिक महत्व से परिचित कराया जाए।


Related Story

तीखे बयान