शुक्रवार, 15 नवम्बर 2019 | समय 13:21 Hrs(IST)

मुम्बई में बारिश का कहर जारी, रेल और विमान सेवाएं प्रभावित

By LSChunav | Publish Date: Aug 4 2019 12:54PM
मुम्बई में बारिश का कहर जारी, रेल और विमान सेवाएं प्रभावित

अधिकारी ने बताया कि भारी बारिश के कारण पालघर जिले में 16 वर्षीय एक बच्चा बह गया। मुम्बई में रविवार लगातार दूसरे दिन भी भारी बारिश जारी रही और मौसम विज्ञान विभाग ने दिन में भी लोगों को बारिश से कोई राहत ना मिलने का पूर्वानुमान लगाया है।

मुम्बई। मुम्बई और निकटवर्ती जिलों में रातभर भारी बारिश से रविवार सुबह रेल और विमान सेवाएं प्रभावित होने के साथ ही जनजीवन प्रभावित हुआ। अधिकारी ने बताया कि भारी बारिश के कारण पालघर जिले में 16 वर्षीय एक बच्चा बह गया। मुम्बई में रविवार लगातार दूसरे दिन भी भारी बारिश जारी रही और मौसम विज्ञान विभाग ने दिन में भी लोगों को बारिश से कोई राहत ना मिलने का पूर्वानुमान लगाया है। नागरिक निकाय के अनुसार मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शहर और उपनगरों में भारी से मूसलाधार बारिश के साथ रुक-रुक कर बारिश होने की संभावना जतायी है। वहीं अगले 24 घंटों में दूरदराज स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: मुंबई में चार मंजिला इमारत में लगी भीषण आग, कोई हताहत नहीं

अधिकारी ने बताया कि पड़ोसी जिलों ठाणे और पालघर और नवीं मुम्बई शहर में पिछले दो दिन से रुक-रुककर बारिश हो रही है और पेड़ गिरने की भी कई घटनाएं वहां हुई हैं। आईएमडी के उप निदेशक के. एस. होसलीकर ने कहा कि पिछले 24 घंटे में शहर में 100 मिमी बारिश दर्ज की गई है। उपनगर ठाणे और नवीं मुम्बई में 250 मिमी बारिश हुई। रविवार होने के कारण कार्यालय जाने वालों को लोकल ट्रेन सेवाओं के बाधित होने के कारण परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा। मध्य रेलवे सेवा के प्रमुख प्रवक्ता सुनील उदासी ने बताया कि लगातार बारिश के कारण पटरियों पर कई जगह पानी भर जाने के कारण छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (मुंबई में) और कर्जत, कसारा और खोपोली के बीच मेन लाइन और हर्बर लाइन पर सुबह आठ बजे से सेवाएं निलंबित हैं।

उन्होंने कहा कि यात्रियों को परेशानी का सामना ना करना पड़े, इसके लिए एहतियाती तौर पर सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं... प्रत्येक घंटे स्थिति का आकलन किया जा रहा है। वहीं मुम्बई हवाई अड्डे के प्रवक्ता ने बताया कि शहर आने वाली दो उड़ानों के मार्ग में परिवर्तन किया गया है और छह उड़ानों को इंतजार करने को कहा गया। इस बीच, मूसलाधार बारिश और गंगापुर बांध के पानी को गोदावरी नदी में छोड़ने के कारण नासिक के कुछ इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है। गंगापुर बांध से रविवार सुबह 20,000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया था, जिससे गोदावरी नदी में पानी खतरे के निशान से ऊपर आ गया। 

इसे भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव के दौरान प्रज्ञा ठाकुर के दिए भड़काऊ भाषण पर HC ने जारी किया नोटिस

जिला कलेक्ट्रेट के एक अधिकारी ने बताया कि इससे नदी के तट पर स्थित कुछ मंदिरों में पानी भर गया। शहर और आदिवासी बहुल इगतपुरी, त्र्यंबकेश्वर, पेठ, सुरगना, नासिक और डिंडोरीतहसील में रविवार को भी भारी बारिश जारी रही। जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया कि साईंखेड़ा गांव से करीब 60 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है।


Related Story

तीखे बयान