बुधवार, 22 मई 2019 | समय 04:31 Hrs(IST)

मोदी पहले अपनी पत्नी का आदर-सम्मान तो कर लें: मायावती

By LSChunav | Publish Date: May 16 2019 6:41PM
मोदी पहले अपनी पत्नी का आदर-सम्मान तो कर लें: मायावती

बसपा प्रमुख ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी बनारस के बुनकरों तथा अन्य कामगारों की रोजीरोटी की समस्या दूर करने में विफल साबित हुए हैं। मोदी ने यहां सैकड़ों छोटे-छोटे मंदिर तोड़वाकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की संकीर्ण राजनीति की है, जिससे अनेक परिवारों को तकलीफ सहन करनी पड़ी है। उन्होंने दावा किया कि लाखों करोड़ रुपये खर्च करने के बावजूद गंगा निर्मल नहीं हो पायी।

वाराणसी। बसपा प्रमुख मायावती ने बृहस्पतिवार को कहा कि लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में महिलाओं के सम्मान की बात कर रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पहले अपनी पत्नी का आदर-सम्मान करें। मायावती ने यहां सपा-बसपा-रालोद महागठबंधन की संयुक्त रैली में प्रधानमंत्री के संसदीय निर्वाचन क्षेत्र में उन पर निशाना साधते हुए कहा  मोदी को आखिरी चरण में महिलाओं का आदर-सम्मान बहुत याद आ रहा है, लेकिन मैं उनसे कहना चाहती हूं कि आप दूसरों के सम्मान की बात छोड़ो, पहले आप अपनी पत्नी का आदर-सम्मान तो कर लो। उन्होंने कहा  जो व्यक्ति अपनी पत्नी का आदर नहीं कर सकता, आप सोचें कि क्या वह किसी दूसरे की बहन-बेटी का सम्मान कर सकता है? इसका जीता-जागता सबूत उनकी पत्नी के साथ-साथ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी हैं, जिन्हें उन्होंने काफी परेशान कर रखा है। 

इसे भी पढ़ें: बंगाल की स्थिति के लिये BJP-RSS जिम्मेदार, चुनाव आयोग भी निष्पक्ष नही: मायावती

बसपा प्रमुख ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी बनारस के बुनकरों तथा अन्य कामगारों की रोजीरोटी की समस्या दूर करने में विफल साबित हुए हैं। मोदी ने यहां सैकड़ों छोटे-छोटे मंदिर तोड़वाकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की संकीर्ण राजनीति की है, जिससे अनेक परिवारों को तकलीफ सहन करनी पड़ी है। उन्होंने दावा किया कि लाखों करोड़ रुपये खर्च करने के बावजूद गंगा निर्मल नहीं हो पायी। इस तरह मोदी ने गंगा मैया से भी वादाखिलाफी की है। जब गंगा मैया मोदी को केन्द्र में सत्तारूढ़ करने का आशीर्वाद दे सकती है, तो इस बार वह आशीर्वाद वापस लेने जा रही है। इस बार गंगा मैया उन्हें जरूर सजा देगी और सत्ता से उखाड़ फेंकेगी।

इसे भी पढ़ें: बंगाल CM को मिला माया का साथ, बोलीं- सोच समझ कर बनाया जा रहा है निशाना

मायावती ने कहा कि पूर्वांचल की गरीबी और पिछड़ेपन को दूर करने में भी मोदी सरकार अपना वादा निभाने में विफल रही है। केन्द्र के साथ-साथ अब तो उत्तर प्रदेश में भी भाजपा की सरकार है, ऐसे में भाजपा के पास अब कोई बहाना नहीं रहा। इस धोखे के लिये प्रधानमंत्री ही जिम्मेदार हैं। पूरे पूर्वांचल की जनता उनसे जवाब मांग रही है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस मौके पर कहा कि भाजपा के लोग जानते हैं कि आने वाले समय में महागठबंधन आने वाला है। वे घबराये हुए हैं, उनकी नींद उड़ गयी है। वे केवल उत्तर प्रदेश से ही नहीं घबराये हैं, बल्कि पश्चिम बंगाल से भी घबराये हुए हैं।

इसे भी पढ़ें: नोटबंदी ने देश की अर्थव्यवस्था को बर्बाद किया: मायावती

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि देश को नया प्रधानमंत्री मिलने जा रहा है। आज के बाद केवल सात दिन हैं। सात दिन बाद देश का नया प्रधानमंत्री होगा। हम वाराणसी के अपने सभी लोगों से अपील करने आये हैं। वैसे तो न जाने कितने लोग धोखा खाये होंगे, मगर जो धोखा बनारस के लोगों को मिला वह किसी और को नहीं मिला होगा। उन्होंने कहा कि यही हमारी धार्मिक और सांस्कृतिक नगरी है जिसमें हमारे देश के प्रधानमंत्री ने कहा था कि वह वाराणसी को क्योटो बना देंगे। हम वाराणसी में आये हैं कि क्योटो में आये हैं? अगर क्योटो नहीं आये हैं, तो देश को नया प्रधानमंत्री दीजिये। अखिलेश ने कहा कि ‘मेक इन इंडिया’ के नाम पर धोखा देने वाली भाजपा को देश का मतदाता एक-एक वोट देकर बताएगा कि ‘मेक इन इंडिया’ क्या है। हमारी अर्थव्यवस्था नीचे जा रही है। जब ऐसा होता है तो समझो किसी को नौकरी नहीं मिलने वाली है। 

इसे भी पढ़ें: नसीमुद्दीन सिद्दीकी का दावा, 23 मई के बाद भाजपा से मिल जायेंगी मायावती

राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह ने कहा कि हार के डर से मोदी दिन-ब-दिन ऊल-जुलूल भाषा बोल रहे हैं। मोदी खुद को गरीब कहते हैं, मगर उन पर लाखों रुपये खर्च होते हैं। उन्होंने जनता से कहा कि आपके अच्छे दिन नहीं, मोदी के अच्छे दिन आये हैं। नफरत की सियासत करने वाले मोदी कहते हैं कि उनकी छाती 56 इंच की है, लेकिन सच्चाई यह है कि उनका दिल एक इंच का भी नहीं है। सिंह ने कहा, ‘‘मोदी कहते हैं कि देश में पिछले 70 साल में कुछ नहीं हुआ। दुनिया में सारा काम उन्होंने ही किया है। अगर वह श्रीलंका चले जाते तो कहते कि रावण को मैंने ही मारा है।’’


Related Story