सोमवार, 9 दिसम्बर 2019 | समय 08:43 Hrs(IST)

कांग्रेस को मिलेगा विधानसभा अध्यक्ष पद, पृथ्वीराज चव्हाण बनेंगे स्पीकर: सूत्र

By अनुराग गुप्ता | LSChunav | Publish Date: 11/19/2019 12:07:30 PM
कांग्रेस को मिलेगा विधानसभा अध्यक्ष पद, पृथ्वीराज चव्हाण बनेंगे स्पीकर: सूत्र

जो फॉर्मूला तीनों पार्टियों के बीच तय हुआ था उसके मुताबिक विधानसभा अध्यक्ष का पद कांग्रेस को मिलेगा। लेकिन सवाल यही है कि कांग्रेस किसे आगे करेगी।

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में सियासी उठापटक जारी है। मुख्यमंत्री कौन बनेगा और कब यह सवाल अब सभी को सता रहा है ? फिलहाल एक और ख़बर निकलकर आ रही है कि प्रदेश का नया मुखिया तो शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ही  होंगे। इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस मिलकर ही सरकार बनाने वाले हैं। 

इसे भी पढ़ें: बीजेपी-शिवसेना को संघ की सीख, आपस में लड़ने से दोनों को होगी हानि

आपको बता दें कि जो फॉर्मूला तीनों पार्टियों के बीच तय हुआ था उसके मुताबिक विधानसभा अध्यक्ष का पद कांग्रेस को मिलेगा। लेकिन सवाल यही है कि कांग्रेस किसे आगे करेगी। ऐसे में इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से छापा कि महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ही अध्यक्ष पद संभालेंगे। 

इस बात पर कितनी सच्चाई है ये तो खुद कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ही बता सकती हैं। लेकिन तीनों पार्टियों के बीच बातचीत अंतिम स्तर पर है। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे 24 नवंबर को अयोध्या जाने वाले थे लेकिन उन्होंने अपना यह दौरा रद्द कर दिया। माना जा रहा है कि ठाकरे जल्द ही दिल्ली रवाना होंगे और कांग्रेस के आलानेताओं के साथ बातचीत करेंगे।

इसे भी पढ़ें: पवार से मुलाकात के बाद बोले राउत, महाराष्ट्र में जल्द ही शिवसेना के नेतृत्व में बनेगी सरकार

कौन हैं पृथ्वीराज चव्हाण 

महाराष्ट्र के 17वें मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के काफी खास माने जाते हैं। इसे आप इस तरह भी समझ सकते हैं कि जब डॉ. मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे तो उन्होंने कई सारे मंत्रालयों का कार्यभार पृथ्वीराज चव्हाण को ही सौंपा था। उनमें विज्ञान एवं तकनीकी, भू विज्ञान, प्रधानमंत्री कार्यालय, जनशिकायत, पेंशन एवं संसदीय कार्य, भारत सरकार|विज्ञान एवं तकनीकी, भू विज्ञान, प्रधानमंत्री कार्यालय, जनशिकायत, पेंशन एवं संसदीय कार्य शामिल हैं।


Related Story

तीखे बयान