रविवार, 18 अगस्त 2019 | समय 06:09 Hrs(IST)

पश्चिम बंगाल में चुनावी हिंसा के लिए ममता जिम्मेदार: राजनाथ सिंह

By LSChunav | Publish Date: May 14 2019 8:57PM
पश्चिम बंगाल में चुनावी हिंसा के लिए ममता जिम्मेदार: राजनाथ सिंह

उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को शर्मा को जमानत पर तत्काल रिहा किये जाने का निर्देश दिया और उन्हें मीम साझा करने के लिए जेल से रिहा होते समय लिखित माफी मांगने को भी कहा।

नयी दिल्ली। भाजपा ने पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा की घटनाओं को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधा और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने इस मामले में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को जिम्मेदार ठहराते हुए मंगलवार को कहा कि राज्य में अराजकता फैली हुई है। भाजपा ने मुख्यमंत्री बनर्जी का एक मीम साझा करने पर पार्टी कार्यकर्ता प्रियंका शर्मा की गिरफ्तारी पर भी नाराजगी जताई। केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने ममता बनर्जी की तुलना तानाशाह से करते हुए कहा कि ऐसे लोग खुद पर हंसने वालों को पसंद नहीं करते। जेटली ने कहा, ‘‘स्वतंत्र समाज में हास्य, व्यंग्य होता है। निरंकुश शासन में इसकी कोई जगह नहीं है। तानाशाह लोगों पर हंसते हैं। वे खुद पर लोगों का हंसना पंसद नहीं करते। आज बंगाल में यही मामला है।’’

उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को शर्मा को जमानत पर तत्काल रिहा किये जाने का निर्देश दिया और उन्हें मीम साझा करने के लिए जेल से रिहा होते समय लिखित माफी मांगने को भी कहा। राजनाथ सिंह ने संवाददाता सम्मेलन में इस बारे में एक सवाल के जवाब में कहा कि अभिव्यक्ति की आजादी का मतलब किसी को गाली देना नहीं होता, लेकिन उनके और अन्य नेताओं की ऐसी हर तरह की तस्वीरें रोजाना आती हैं। प्रियंका शर्मा से माफी मांगने को कहने के उच्चतम न्यायालय के आदेश पर सिंह ने कहा कि इसे चुनौती दी जा सकती है।
सिंह ने चुनाव के दौरान पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा की घटनाओं पर भी राज्य सरकार को आड़े हाथ लिया और बनर्जी से इनकी जिम्मेदारी लेने को कहा। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘कानून व्यवस्था एक मुख्यमंत्री की प्राथमिक जिम्मेदारी है। वह हिंसा नहीं रोक पा रहीं। वहां अराजकता है। मैं राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराता हूं।’’ हालांकि सिंह ने कहा कि इस मामले में केंद्र के हाथ में कुछ नहीं है और चुनाव आयोग को संज्ञान लेना चाहिए। तूफान फोनी के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फोन का जवाब नहीं देने पर मुख्यमंत्री बनर्जी की निंदा करते हुए गृह मंत्री ने कहा कि संभवत: पहली बार ऐसा हुआ होगा जब किसी मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री के फोन का जवाब नहीं दिया।
 

Related Story

तीखे बयान