मंगलवार, 7 अप्रैल 2020 | समय 01:56 Hrs(IST)

दिल्लीवासियों से हाथ जोड़कर केजरीवाल ने की अपील, बोले- हिंसा में शामिल ना हों

By LSChunav | Publish Date: 2/25/2020 4:54:05 PM
दिल्लीवासियों से हाथ जोड़कर केजरीवाल ने की अपील, बोले- हिंसा में शामिल ना हों

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सभी से हिंसा में शामिल ना होने की अपील की और जिलों के मजिस्ट्रेटों को शांति मार्च आयोजित करने तथा सभी धर्म के लोगों के साथ बैठकें करने का निर्देश दिया। केजरीवाल ने इस संबंध में हिंसा प्रभावित इलाकों के सभी दलों के विधायकों और विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों की आपात बैठक बुलाई।

नयी दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को सभी से हिंसा में शामिल ना होने की अपील की और जिलों के मजिस्ट्रेटों को शांति मार्च आयोजित करने तथा सभी धर्म के लोगों के साथ बैठकें करने का निर्देश दिया। गौरतलब है कि दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर में सोमवार को संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का समर्थन करने वाले और विरोध करने वाले समूहों के बीच संघर्ष हो गया। प्रदर्शनकारियों ने कई घरों, दुकानों तथा वाहनों में आग लगा दी और एक-दूसरे पर पथराव किया था। इस हिंसा में एक पुलिसकर्मी समेत सात लोगों की मौत हुई है।

 इसे भी पढ़ें: गोकलपुरी में पहुंची हिंसा की आग, दो दमकल वाहनों को किया गया क्षतिग्रस्त

केजरीवाल ने इस संबंध में हिंसा प्रभावित इलाकों के सभी दलों के विधायकों और विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों की आपात बैठक बुलाई। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं सभी से हाथ जोड़कर अपील करता हूं कि हिंसा में शामिल ना हो। सभी मसले बातचीत के जरिए हल किए जा सकते हैं।’’ केजरीवाल ने सभी जिलों के मजिस्ट्रेट और एसडीएम से शांति मार्च आयोजित करने और शांति बैठकें करने को कहा है, जिसमें सभी धर्म के लोग हिस्सा लेंगे। उन्होंने कहा कि इन बैठकों में विधायक भी हिस्सा लें।

केजरीवाल ने कहा, ‘‘ हिंसा प्रभावित इलाकों में मंदिरों और मस्जिदों से लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की जानी चाहिए। मैंने मुख्य सचिव से भी अनुरोध किया है कि पुलिस आयुक्त से पुलिस अधिकारियों की संख्या बढ़ाने और स्थानीय पुलिस अधिकारियों को अधिकार प्रदान करने को कहे।’’ मुख्यमंत्री ने अस्पताल के सभी अधिकारियों से पीड़ितों को हरसंभव सर्वश्रेष्ठ उपचार मुहैया कराने और सतर्क रहने को कहा है। उन्होंने कहा, ‘‘ दमकल विभाग से पुलिस के साथ समन्वय स्थापित करने और प्रभावित इलाकों में समय पर पहुंचने को कहा गया है।’’

 इसे भी पढ़ें: CAA को लेकर दिल्ली में जानबूझकर फैलाई गई हिंसा: जी किशन रेड्डी

उन्होंने कहा कि बाहरी लोगों को यहां आकर हिंसा करने से रोकने के लिए सीमाओं को बंद करने की भी जरूरत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थिति को देखते हुए एहतियाती तौर पर गिरफ्तारियां भी की जानी चाहिए। केजरीवाल ने कहा, ‘‘ मैंने सभी जिलों के मजिस्ट्रेट और एसडीएम से शांति बैठक करने को कहा है, जिसमें सभी धर्म के लोग हिस्सा लें। मैंने विधायकों से भी उसमें हिस्सा लेने को कहा है। इस बैठक के तुरन्त बाद मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक की और दिल्ली की मौजूदा कानून-व्यवस्था पर चर्चा की।

केजरीवाल ने कहा कि शाह के साथ बैठक अच्छी रही और सभी दलों ने राष्ट्रीय राजधानी में शांति बहाल करने पर जोर दिया। पुलिस सूत्रों के अनुसार सोमवार को जाफराबाद, मौजपुर, चांदबाग, खुरेजी खास और भजनपुरा में हुई हिंसा में 48 पुलिस कर्मी ओर 98 नागरिक घायल हो गए।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली हिंसा पर बोले कपिल मिश्रा, मुझे मिल रही हैं हत्या की धमकियां

इस इलाके में आग बुझाने पहुंचे तीन दमकल कर्मी भी घायल हो गए। भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने गत रविवार को जाफराबाद इलाके में मौजपुर चौक पर सीएए समर्थकों का नेतृत्व किया था, जिसके बाद यहां सीएए समर्थक और विरोधी समूहों में हिंसा भड़की। मिश्रा ने हाल ही में सम्पन्न हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा की टिकट पर चुनाव लड़ा था। 


Related Story

तीखे बयान