मंगलवार, 28 जनवरी 2020 | समय 16:52 Hrs(IST)

विपक्ष के आधे नेता जेल और आधे बेल पर तो ये जनता के लिए क्या काम करेंगे: जेपी नड्डा

By LSChunav | Publish Date: 12/6/2019 8:55:32 AM
विपक्ष के आधे नेता जेल और आधे बेल पर तो ये जनता के लिए क्या काम करेंगे: जेपी नड्डा

नड्डा ने आरोप लगाया कि यह सभी पार्टियां झारखंड के प्राकृतिक संसाधन लूटने की नीयत से ही एकजुट हो रही हैं। उन्होंने कहा कि यह चुनाव झारखंड की तकदीर और तस्वीर को बदलने और संवारनेका चुनाव है। इस चुनाव में ऐसे लोग भी आ रहे हैं जिन्होंने आपकी तिजोरी लूटने का काम किया है।

जमुआ (गिरिडीह)। भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आज यहां विपक्षी पार्टियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए कहा कि विपक्ष के आधे नेता जेल में हैं तो आधे बेल (जमानत) पर हैं, ऐसे में वह जनता का क्या काम करेंगे? भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आज यहां पार्टी उम्मीदवार केदार हाजरा के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए यह आरोप लगाये। नड्डा ने कहा, ‘‘विपक्षी गठबंधन के सभी दल कांग्रेस, झारखंड मुक्ति मोर्चा एवं राष्ट्रीय जनता दल वंशवाद से ग्रस्त हैं। इनके सभी प्रमुख नेता या तो जेल में हैं अथवा बेल में हैं अर्थात् जमानत पर हैं।’’ उन्होंने जनता से पूछा, ‘‘आखिर जो नेता स्वयं जेल में हैं, वह जनता का, आपका क्या भला करेगा?’’

 
नड्डा ने आरोप लगाया कि यह सभी पार्टियां झारखंड के प्राकृतिक संसाधन लूटने की नीयत से ही एकजुट हो रही हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यह चुनाव झारखंड की तकदीर और तस्वीर को बदलने और संवारनेका चुनाव है। इस चुनाव में ऐसे लोग भी आ रहे हैं जिन्होंने आपकी तिजोरी लूटने का काम किया है. ऐसे लोग भी सुंदर लुभावने वादे लेकर आपके पास पहुंच रहे हैं।’’ नड्डा ने कहा कि राम जन्मभूमि का मामला 500 वर्षों से लंबित था। सर्वोच्च न्यायालय में कांग्रेस के नेता फैसला न देने के लिए अर्जियां डाल रहे थे, कहते थे फैसला अभी ना दें नहीं तो उन्हें नुकसान हो जायेगा। लेकिन मोदी जी के नेतृत्व में सारा समाज एक साथ खड़ा हुआ और इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय ने अपना फैसला सुनाया और मंदिर बनने का मार्ग प्रशस्त हुआ।
उन्होंने कहा, ‘‘जब मजबूत सरकार होती है तो मजबूत निर्णय होते हैं। जब मजबूत नेता के साथ, मजबूत इरादे के साथ देश चलता है तो दुनिया उसके पीछे चलती है। इसी का उदाहरण है कि अब भारत का प्रधानमंत्री अमेरिका के धरती पर जाता है तो प्रोटोकॉल तोड़कर अमेरिका का राष्ट्रपति उसका भाषण सुनने आता है। जिस चीन के साथ तकरार चलती है उसके साथ महाबलीपुरम् में अनौपचारिक वार्ता भी चलती है।’’


Related Story

तीखे बयान