मंगलवार, 22 अक्तूबर 2019 | समय 16:29 Hrs(IST)

कांग्रेस छोड़कर भाजपा से चुनाव लड़ने वाले चार विधायकों ने गुजरात में ली शपथ

By LSChunav | Publish Date: May 28 2019 4:08PM
कांग्रेस छोड़कर भाजपा से चुनाव लड़ने वाले चार विधायकों ने गुजरात में ली शपथ

विधायकों ने मुख्यमंत्री विजय रुपाणी, भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष जीतू वघानी, मंत्री भूपेंद्रसिंह चूडासमा और प्रदीपसिंह जडेजा की मौजूदगी में विधानसभा में अध्यक्ष के चैम्बर में शपथ ली। भाजपा के अब सदन में 104 सदस्य हैं। चावड़ा, आशा पटेल और साबरिया ने लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस छोड़ दी थी जबकि राघवजी पटेल अगस्त 2017 में राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस नेता अहमद पटेल के खिलाफ मतदान करने के बाद दो साल पहले भाजपा में शामिल हुए थे।

अहमदाबाद। गुजरात में 182 सदस्यीय विधानसभा में सत्तारूढ़ भाजपा के विधायकों की संख्या बढ़कर 104 पर पहुंच गई है। कांग्रेस छोड़ने वाले चार विधायक हाल ही में हुए उपचुनावों में भाजपा की टिकट पर जीतकर पुन: निर्वाचित हो गए हैं। विधानसभा के अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी ने सभी चार विधायकों को मंगलवार को शपथ दिलाई। विधायक जवाहर चावड़ा, पुरुषोत्तम साबरिया, राघवजी पटेल और आशा पटेल क्रमश: माणावदर, ध्रांगध्रा, जामनगर (ग्रामीण) और ऊंझा विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में जीत गए। इन सीटों पर उपचुनाव 23 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के साथ हुए थे जिनके नतीजे 23 मई को घोषित किए गए।

इसे भी पढ़ें: भाजपा में शामिल हो सकते हैं अल्पेश ठाकोर, उपमुख्यमंत्री से की मुलाकात

विधायकों ने मुख्यमंत्री विजय रुपाणी, भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष जीतू वघानी, मंत्री भूपेंद्रसिंह चूडासमा और प्रदीपसिंह जडेजा की मौजूदगी में विधानसभा में अध्यक्ष के चैम्बर में शपथ ली। भाजपा के अब सदन में 104 सदस्य हैं। चावड़ा, आशा पटेल और साबरिया ने लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस छोड़ दी थी जबकि राघवजी पटेल अगस्त 2017 में राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस नेता अहमद पटेल के खिलाफ मतदान करने के बाद दो साल पहले भाजपा में शामिल हुए थे। राघवजी पटेल दिसंबर 2017 में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के वल्लभ धारविया से हार गए थे। धारविया के भाजपा में शामिल होने के बाद जामनगर (ग्रामीण) सीट खाली हो गई थी। कांग्रेस के अब 71 विधायक हैं। साल 2017 में हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा ने 99 सीटें और कांग्रेस ने 77 सीटें जीती थीं।


Related Story

तीखे बयान