गुरुवार, 20 जून 2019 | समय 10:33 Hrs(IST)

पहले महादेव को प्रणाम, फिर वाराणसी की जनता को काशीवाले मोदी का सलाम

By अभिनय आकाश | LSChunav | Publish Date: May 27 2019 12:47PM
पहले महादेव को प्रणाम, फिर वाराणसी की जनता को काशीवाले मोदी का सलाम

पीएम मोदी ने कहा कि देश ने मुझे प्रधानमंत्री जरुर बनाया है लेकिन आपके लिए मैं कार्यकर्ता हूं। पीएम ने कहा कि शायद ही कोई उम्मीदवार चुनाव के समय इतना निश्चिंत होता होगा, जितना मैं था। इस निश्चिंतता का कारण आपका परिश्रम और काशीवासियों का विश्वास था।

वाराणसी। लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत के बाद प्रधानमंत्री के रुप में दूसरी पार्टी शुरु करने से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में महादेव का आशीर्वाद लिया। जिसके बाद कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मैं भी भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ता होने के नाते पार्टी और कार्यकर्ता जो आदेश करते हैं उसका पालन करने का मैं भरसक प्रयास करता हूं। एक महीने पहले जब मैं यहां था, जिस आन-बान-शान के साथ काशी ने एक विश्व रूप दिखाया था, वो सिर्फ काशी या यूपी को प्रभावित करने वाला नहीं था, उसने पूरे देश को प्रभावित किया था।

इसे भी पढ़ें: मोदी और शाह की जोड़ी सहमति और समन्वय से इतिहास रचते चली जा रही है

पीएम मोदी ने कहा कि देश ने मुझे प्रधानमंत्री जरुर बनाया है लेकिन आपके लिए मैं कार्यकर्ता हूं। पीएम ने कहा कि शायद ही कोई उम्मीदवार चुनाव के समय इतना निश्चिंत होता होगा, जितना मैं था। इस निश्चिंतता का कारण आपका परिश्रम और काशीवासियों का विश्वास था। नतीजे और मतदान दोनों समय मैं निश्चिंत था और बड़े मौज के साथ केदारनाथ में बाबा के चरणों में बैठ गया था। मोदी ने अलग-अलग दलों और निर्दलीय प्रत्याशियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने पूरी गरिमा के साथ काशी के चुनाव अभियान को आगे बढ़ाया। मैं सभी अन्य उम्मीदवारों का मन से अभिनंदन करता हूं।

इसे भी पढ़ें: महाविजय के बाद काशी में शिवभक्त मोदी की पूजा-अर्चना

पीएम मोदी ने कहा कि इस चुनाव में जब कार्यकर्ताओं के साथ मेरा मिलना हुआ था तो उस दिन मैंने कहा था कि यहां पर शायद नामांकन तो एक नरेन्द्र मोदी का हुआ होगा, लेकिन ये चुनाव हर घर का नरेन्द्र मोदी लड़ेगा, हर गली का नरेन्द्र मोदी लड़ेगा। मैं काशी के संगठन से जुड़े लोगों का, हर कार्यकर्ता का और हर समर्थक का इस बात के लिए आभार करता हूं कि उन्होंने इस चुनाव को जय-पराजय के तराजू से नहीं तोला। उन्होंने चुनाव को लोक संपर्क, लोक संग्रह, लोक समर्पण का पर्व माना। पीएम ने कहा कि यहां की बेटियों ने जो स्कूटी यात्रा निकाली उसकी पूरे देश में और सोशल मीडिया में बड़ी चर्चा है, स्कूटी पर बैठकर हमारी बेटियों ने पूरी काशी को अपने सिर पर बैठा लिया था। 


Related Story

तीखे बयान