शनिवार, 19 अक्तूबर 2019 | समय 17:26 Hrs(IST)

मोहपाश गिरोह की महिला सदस्य के भाजपा कनेक्शन को लेकर दिग्विजय ने दागे सवाल

By LSChunav | Publish Date: Sep 22 2019 5:35PM
मोहपाश गिरोह की महिला सदस्य के भाजपा कनेक्शन  को लेकर दिग्विजय ने दागे सवाल

सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, मेरे पास पुलिस का जुटाया कोई रिकॉर्ड नहीं है। मैं तो आपसे (मीडिया) कह रहा हूं कि आप (श्वेता की राजनीतिक पृष्ठभूमि को लेकर) मेरे सवालों के जवाब ढूंढिये।

इंदौर। मध्यप्रदेश के बहुचर्चित  हनी ट्रैप  मामले को लेकर सूबे में सत्तारूढ़ कांग्रेस और भाजपा के बीच जारी बयानबाजी रविवार को तेज हो गयी। वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने मोहपाश गिरोह की गिरफ्तार सदस्यों में शामिल महिला के भाजपा से वर्षों पुराने कथित जुड़ाव को लेकर सिलसिलेवार तौर पर सवाल दागे और उसकी राजनीतिक पृष्ठभूमि की ओर इशारा करते हुए राज्य के प्रमुख विपक्षी दल पर निशाना साधा। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा,  जब जीतू जिराती भारतीय जनता युवा मोर्चा की मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष थे,तब श्वेता विजय जैन (मोहपाश गिरोह की गिरफ्तार सदस्य) इस इकाई की महामंत्री थीं या नहीं? 
राज्यसभा सदस्य ने कहा,  आप (मीडिया) इस बात का पता लगाइये कि क्या श्वेता, भारतीय जनता युवा मोर्चा में सक्रिय थीं और तब संभाजी पाटिल निलंगेकर भारतीय जनता युवा मोर्चा की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष थे या नहीं? यही निलंगेकर आज महाराष्ट्र की देवेंद्र फड़णवीस नीत भाजपा सरकार के मंत्री हैं या नहीं? 
दिग्विजय ने मीडिया को यह सलाह दी कि उसे यह भी पता लगाना चाहिये कि जब श्वेता का एक कथित वीडियो वायरल हुआ था, तब वह महाराष्ट्र में किस व्यक्ति के साथ रही थीं।  सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा,  मेरे पास पुलिस का जुटाया कोई रिकॉर्ड नहीं है। मैं तो आपसे (मीडिया) कह रहा हूं कि आप (श्वेता की राजनीतिक पृष्ठभूमि को लेकर) मेरे सवालों के जवाब ढूंढिये।  उधर, भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष जीतू जिराती ने अपने बारे में दिग्विजय के संबंधित दावे को सरासर भ्रामक बताया। उन्होंने कहा कि भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष के रूप में उनके वर्ष 2009 से 2013 के कार्यकाल के दौरान मोहपाश गिरोह की गिरफ्तार महिला सदस्य श्वेता विजय जैन इस इकाई की महामंत्री नहीं, बल्कि प्रदेश कार्यसमिति सदस्य थीं। 
जिराती ने कहा, मेरे इस कार्यकाल के दौरान श्वेता भाजयुमो की प्रदेश कार्यसमिति के करीब 325 सदस्यों में से एक थी। तब मेरा उससे औपचारिक परिचय था। भाजपा के पूर्व विधायक ने कहा,  मेरा दिग्विजय से आग्रह है कि वह हनी ट्रैप मामले को गंभीरता से लें। प्रदेश की कांग्रेस सरकार सीबीआई या किसी भी एजेंसी से जांच कराते हुए मामले के दोषियों को सजा दिलाये। गिरोह के मोहपाश में फंसे लोगों के नाम सार्वजनिक करते हुए उन्हें इंसाफ दिलाया जाये। गौरतलब है कि पुलिस ने इन्दौर नगर निगम के अधीक्षण अभियंता हरभजन सिंह की शिकायत पर जांच के बाद बृहस्पतिवार को हनी ट्रैप गिरोह का औपचारिक खुलासा किया था। गिरोह के गिरफ्तार आरोपियों में श्वेता विजय जैन के अलावा, आरती दयाल, मोनिका यादव, श्वेता स्वप्निल जैन, बरखा सोनी तथा उनका ड्राइवर ओमप्रकाश कोरी शामिल हैं।
 

Related Story

तीखे बयान