गुरुवार, 16 जुलाई 2020 | समय 18:44 Hrs(IST)

असामाजिक तत्वों की जहरीली विचारधारा से डरने वाला नहीं है देश: उमा भारती

By LSChunav | Publish Date: 1/9/2020 10:27:22 AM
असामाजिक तत्वों की जहरीली विचारधारा से डरने वाला नहीं है देश: उमा भारती

सीएए के नाम पर लोगों को भ्रमित कर रहे राजनीतिक दल, देश में हिंसा फैला रहे असामाजिक तत्व कितना भी प्रयास कर लें, परंतु यह भारत देश चंद जहरीली मानसिकता और विचारधारा वाले लोगों से डरने वाला नहीं है। नागरिकता संशोधन कानून देश में लागू होकर रहेगा।

भोपाल। सीएए के नाम पर लोगों को भ्रमित कर रहे राजनीतिक दल, देश में हिंसा फैला रहे असामाजिक तत्व कितना भी प्रयास कर लें, परंतु यह भारत देश चंद जहरीली मानसिकता और विचारधारा वाले लोगों से डरने वाला नहीं है। नागरिकता संशोधन कानून देश में लागू होकर रहेगा। यह बात पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री सुश्री उमा भारती ने छतरपुर में सीएए को लेकर आयोजित प्रबुद्धजन संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कही।

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर चल रहे जन जागरण अभियान के अंतर्गत प्रबुद्धजन संगोष्ठी का आयोजन बुधवार को छतरपुर में किया गया। जिसमें प्रमुख वक्ता एवं मुख्य अतिथि के रूप में भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री सुश्री उमा भारती मौजूद रहीं, जबकि अध्यक्षता पूर्व विभाग संघ चालक राजेंद्र चतुर्वेदी द्वारा की गई। प्रबुद्धजन संगोष्ठी में बड़ी संख्या में जिले के गणमान्य नागरिक, अधिवक्ता, पत्रकार, डॉक्टर, पेंशनर्स, एवं विभिन्न समाजों के अध्यक्ष तथा प्रबुद्धजन विशेष रूप से उपस्थित रहे। 

इसे भी पढ़ें: कांडा के समर्थन पर उमा भारती ने बीजेपी को दी नसीहत, हम अपने नैतिक अधिष्ठान को न भूलें

लोगों को भड़का कर अशांति फैलाना चाहते हैं विरोधी

सुश्री भारती ने कहा कि एक ओर जहां हमारे प्रधानमंत्री ने देश हित में नागरिकता संशोधन कानून 2019 को संसद से पास कराया है, तो वहीं कुछ जहरीली मानसिकता से ग्रसित राजनैतिक दल व असामाजिक तत्व देश में भ्रम फैलाकर, हिंसा एवं उपद्रव कर भय का वातावरण निर्मित करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह विपक्षी दल जहां संविधान बचाओ का नारा देकर लोगों को भड़काने का काम करते हुए सत्ता के लिए देश में अशांति फैलाना चाहते हैं, वहीं दूसरी ओर यही दल संसद के दोनों सदनों से पारित नागरिकता कानून का विरोध कर रहे हैं।

विपक्षी दलों की सरकार राज्य सरकारों के द्वारा इस कानून को लागू नहीं किए जाने का ऐलान भी किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैं पूछना चाहती हूं कि देश की संपत्ति को जलाकर लोगों को हिंसात्मक तरीके से मारकर विपक्षी दल और उनके जैसी जहरीली मानसिकता के लोग किस मुंह से संविधान बचाने की बात करते हैं? सुश्री उमा भारती ने कहा कि हमारा भारत देश प्रारंभ से ही बड़ा दयालु और सहनशील रहा है। हमारे यहां अल्पसंख्यकों को सदैव भाई चारे के साथ एक सौहार्दपूर्ण वातावरण में रखा गया है।

इसे भी पढ़ें: अयोध्या केस पर फैसला आते ही बोलीं उमा भारती, इस महान कार्य के लिए हमने अपना सर्वस्व दांव पर लगाया

संगोष्ठी को विभाग संघचालक राजेंद्र चतुर्वेदी ने भी संबोधित किया। प्रबुद्धजन संगोष्ठी में संभागीय संगठन मंत्री श्री केशव सिंह भदौरिया, जिला अध्यक्ष मलखान सिंह पूर्व मंत्री ललिता यादव पूर्व विधायक श्री रामदयाल अहिरवार, रेखा यादव, पूर्व जिला अध्यक्ष डॉ. घासीराम पटेल, पुष्पेंद्र प्रताप सिंह, जयनारायण अग्रवाल, नगर पालिका अध्यक्ष एवं कार्यक्रम की प्रभारी श्रीमती अर्चना सिंह, जिला महामंत्री अरविंद पटेरिया आदि उपस्थित थे।


Related Story

तीखे बयान