गुरुवार, 9 जुलाई 2020 | समय 19:11 Hrs(IST)

कोरोना वायरस: छत्तीसगढ़ में 31 मार्च तक स्कूल और कॉलेज बंद करने का फैसला

By LSChunav | Publish Date: 3/13/2020 8:20:00 AM
कोरोना वायरस: छत्तीसगढ़ में 31 मार्च तक स्कूल और कॉलेज बंद करने का फैसला

छत्तीसगढ़ सरकार ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए राज्य में परीक्षाओं को छोड़कर स्कूल और कॉलेजों को 31 मार्च तक बंद करने का फैसला किया है। अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग को कोरोना वायरस से बचाव के लिए किए गए इंतजामों की नियमित समीक्षा और निगरानी करने का निर्देश दिया है।

रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए राज्य में परीक्षाओं को छोड़कर स्कूल और कॉलेजों को 31 मार्च तक बंद करने का फैसला किया है। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने गुरुवार को यहां बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दिल्ली से लौटने के बाद आज देर शाम अपने निवास कार्यालय में आपात बैठक बुलाई और राज्य में कोरोना वायरस से निपटने के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा की। अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग को कोरोना वायरस से बचाव के लिए किए गए इंतजामों की नियमित समीक्षा और निगरानी करने का निर्देश दिया है।

इसे भी पढ़ें: देश में पहले ही से कई बीमारियां हैं एक और जुड़ गई: कोरोना पर बोले राज ठाकरे

उन्होंने बताया कि बैठक में राज्य में परीक्षाओं को छोड़कर सभी स्कूल और कॉलेजों को आगामी 31 मार्च तक बंद करने का निर्णय लिया गया। परीक्षाएं अपने निर्धारित समय-सारणी के अनुसार आयोजित की जाएगी। अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ में में कोरोना वायरस से निपटने के लिए राज्य सरकार ने पहले ही कार्यालयों में 31 मार्च तक बायोमेट्रिक उपस्थिति पर रोक लगा दी है। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के संबंध में केन्द्र सरकार और विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी निर्देशों का लगातार नियमित रूप से सभी माध्यमों में व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। लोगों को सजग और जागरूक रहने तथा शासकीय कार्यक्रमों में भीड़-भाड़ से बचने की हिदायत दी गई है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि राज्य में बुधवार तक 44 लोगों के नमूने की जांच की रिपोर्ट मिल चुकी है। इनमें से किसी भी मरीज में कोरोना वायरस होने की पुष्टि नहीं हुई है। इधर रायपुर जिले के हिदायतुल्लाह राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय (एचएनएलयू) ने कुछ छात्रों को बुखार और जुकाम से पीड़ित होने के बाद एहतियातन 18 मार्च तक कक्षाओं को स्थगित कर दिया।

इसे भी पढ़ें: भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण से पहली मौत, स्वास्थ्य मंत्री श्रीरामुलु ने की पुष्टि

अधिकारियों ने बताया कि आज एचएनएलयू के दो छात्रों का नमूना जांच के लिए रायपुर के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में भेजा गया है। यह छात्र दिल्ली और मध्यप्रदेश के जबलपुर के निवासी हैं। इसके अलावा राज्य के सुकमा जिले में तैनात सीआरपीएफ के जवान का नमूना भी जांच के लिए भेजा गया है। इन तीन नमूनों के साथ राज्य में कोरोना वायरस के संदिग्ध नौ व्यक्तियों के नमूनों की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिस अर्धसैनिक बल के जवान का नमूना जांच के लिए भेजा गया है वह केरल का निवासी है तथा वहां 30 दिनों की छुट्टी बिताने के बाद सुकमा वापस लौटा है।


Related Story

तीखे बयान