गुरुवार, 9 जुलाई 2020 | समय 16:43 Hrs(IST)

लोकतंत्र की मजबूती के लिए जनप्रतिनिधियों में क्षमता निर्माण आवश्यक: बिरला

By LSChunav | Publish Date: 1/11/2020 9:17:14 AM
लोकतंत्र की मजबूती के लिए जनप्रतिनिधियों में क्षमता निर्माण आवश्यक: बिरला

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शुक्रवार को कहा कि लोकतंत्र की मजबूती के लिये जन प्रतिनिधियों में क्षमता निर्माण आवश्यक है। उन्होंने कहा कि संसदों ने देशों के बेहतर भविष्य के लिए नीतियां बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। बिरला कनाडा के ओटावा में राष्ट्रमंडल के स्पीकरों और पीठासीन अधिकारियों के 25वें सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

नयी दिल्ली। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शुक्रवार को कहा कि लोकतंत्र की मजबूती के लिये जन प्रतिनिधियों में क्षमता निर्माण आवश्यक है। उन्होंने कहा कि संसदों ने देशों के बेहतर भविष्य के लिए नीतियां बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। बिरला कनाडा के ओटावा में राष्ट्रमंडल के स्पीकरों और पीठासीन अधिकारियों के 25वें सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा संसदीय प्रणाली में ‘स्पीकर्स’ लोकतंत्र और सहभागी शासन के संरक्षक हैं, और  उनके फैसले लोगों की समान भागीदारी और प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने में बहुत प्रभाव डालते है। 

इसे भी पढ़ें: लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए जन प्रतिनिधियों के क्षमता निर्माण के प्रयास जरूरी है: लोकसभा अध्यक्ष

लोकसभा सचिवालय की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक कि बिरला ने कहा कि लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए जन प्रतिनिधियों में क्षमता निर्माण आवश्यक है। उन्होंने सभा को बताया कि हाल ही में उन्होंने सदन की कार्यवाही शुरू होने से पहले महत्वपूर्ण विधायी कार्यों पर सांसदों के लिए ब्रीफिंग सत्र आयोजित करने की परंपरा शुरू की है ताकि मुद्दों पर सदस्यों की जागरुकता में सुधार किया जा सके। 


Related Story

तीखे बयान