गुरुवार, 21 नवम्बर 2019 | समय 19:17 Hrs(IST)

विदर्भ क्षेत्र में भाजपा को लगा झटका, 2014 की तुलना में कम हुई सीटें

By LSChunav | Publish Date: 10/25/2019 8:09:08 PM
विदर्भ क्षेत्र में भाजपा को लगा झटका, 2014 की तुलना में कम हुई सीटें

पूर्वी महाराष्ट्र क्षेत्र में भाजपा ने 29 सीटों पर जबकि उसकी सहयोगी शिवसेना ने पांच सीटों पर जीत दर्ज की। इस क्षेत्र में 11 जिले आते हैं। वर्ष 2014 के चुनाव में भाजपा ने विदर्भ में 45 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

मुंबई। विपक्षी कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने विधानसभा चुनावों में महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र में 62 सीटों में से 21 सीटों पर जीत दर्ज कर इस क्षेत्र में फिर से अपनी पैठ बनाई है। राज्य विधानसभा चुनाव के परिणामों की घोषणा बृहस्पतिवार को की गई थी। पूर्वी महाराष्ट्र क्षेत्र में भाजपा ने 29 सीटों पर जबकि उसकी सहयोगी शिवसेना ने पांच सीटों पर जीत दर्ज की। इस क्षेत्र में 11 जिले आते हैं। वर्ष 2014 के चुनाव में भाजपा ने विदर्भ में 45 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

इसे भी पढ़ें: माकपा ने साधा निशाना, कहा- भाजपा को सत्ता के लिये अपराधियों से भी हाथ मिलाने से गुरेज नहीं

भगवा पार्टी ने इस बार कुल 105 सीटों पर जीत दर्ज की है और वह शिवसेना के साथ गठबंधन में अपनी सत्ता बरकरार रखने के लिए तैयार है लेकिन अपने बलबूते बहुमत हासिल करने का उसका लक्ष्य पूरा नहीं हो सका। कांग्रेस ने नागपुर शहर में आने वाले नागपुर पश्चिम और नागपुर उत्तर विधानसभा क्षेत्रों समेत विदर्भ में 15 सीटों पर जीत दर्ज की। नागपुर शहर मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस का गृहनगर है। फडणवीस ने नागपुर दक्षिण-पश्चिम सीट से जीत दर्ज की है।

इसे भी पढ़ें: भाजपा की लोकप्रियता पर ममता, अन्य विपक्षी नेता गलतफहमी दूर कर लें: विजयवर्गीय

राकांपा को छह सीटों पर जीत मिली है। निर्दलीयों और छोटे दलों को अन्य सात सीटें मिली है। विदर्भ को हमेशा कांग्रेस का गढ़ माना जाता था लेकिन 2014 के चुनाव में इस क्षेत्र में भाजपा ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया था। इस क्षेत्र में बुलढाणा, अकोला, वाशिम, अमरावती, चंद्रपुर, यवतमाल, वर्धा, नागपुर, गढ़चिरौली, गोंदिया और भंडारा जिले आते है।


Related Story

तीखे बयान