शुक्रवार, 22 नवम्बर 2019 | समय 21:04 Hrs(IST)

स्वार्थी हितों के कारण जजपा ने किया भाजपा से गठबंधन: अभय चौटाला

By LSChunav | Publish Date: 11/4/2019 8:58:26 AM
स्वार्थी हितों के कारण जजपा ने किया भाजपा से गठबंधन: अभय चौटाला

अभय चौटाला ने पार्टी की राज्य कार्यकारिणी बैठक के इतर संवाददाताओं से कहा कि वे अपने स्वार्थी हितों के लिए एक साथ आए हैं।

चंडीगढ़। हरियाणा में इनेलो के एकमात्र विधायक अभय चौटाला ने चौटाला परिवार में आपसी विवाद दूर होने की संभावनाओं को धूमिल करते हुए अपने भतीजे दुष्यंत चौटाला के नेतृत्व वाली जजपा पर आरोप लगाया कि उसने ‘स्वार्थी हितों’ के कारण भाजपा के साथ चुनाव के बाद गठबंधन किया। उन्होंने दावा किया कि हरियाणा में गठबंधन सरकार बहुत समय नहीं चलेगी।

अभय चौटाला ने पार्टी की राज्य कार्यकारिणी बैठक के इतर संवाददाताओं से कहा कि वे अपने स्वार्थी हितों के लिए एक साथ आए हैं। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला के छोटे बेटे अभय चौटाला का यह विवादास्पद बयान ऐसे समय में आया है जब कुछ ही दिन पहले उनके बड़े भाई अजय चौटाला ने उनसे मुलाकात करके परिवार में सुलह की उम्मीद जगायी थी। अजय चौटाला के बेटे दुष्यंत चौटाला ने भाजपा नीत राज्य सरकार में हरियाणा के उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली है।

इसे भी पढ़ें: जननायक जनता पार्टी धौंस और धमकी की राजनीति नहीं करती है: दुष्यंत चौटाला

अभय चौटाला ने भाजपा-जजपा गठबंधन के बारे में कहा कि उनके भतीजे के नेतृत्व वाले दल और भाजपा ने हालिया विधानसभा चुनाव में एक दूसरे का कड़ा विरोध करने के बाद हाथ मिला लिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर दुष्यंत चौटाला को ‘‘गप्पू’’ कहते थे जबकि जजपा विभिन्न मोर्चों पर भाजपा को घेरती थी। अभय चौटाला ने कहा, ‘अब उन्होंने लोगों के हितों की रक्षा के लिए नहीं, बल्कि अपने स्वार्थी हितों के लिए हाथ मिला लिया है। इस प्रकार के गठबंधन लंबे समय तक नहीं टिकते और सरकार अंतत: गिर जाएगी।’

उन्होंने कहा कि दोनों दल अब सरकार में प्रभार के बंटवारे को लेकर झगड़ रहे हैं। उन्होंने अपने भतीजे पर निशाना साधते हुए कहा कि हिसार से सांसद के रूप में दुष्यंत ने किसानों का समर्थन जीतने के लिए संसद तक ट्रैक्टर भले ही चलाया हो, लेकिन उन्हें कृषि के बारे में कम ही जानकारी है। अभय चौटाला ने भाजपा के बारे में दावा किया कि उन्होंने उसके खराब प्रदर्शन करने की भविष्यवाणी की थी।

इसे भी पढ़ें: स्थिर सरकार देंगे, सभी के कल्याण के लिए काम करेंगे: दुष्यंत चौटाला

उन्होंने कहा कि उन्हें (भाजपा) मिले मत (हरियाणा से) लोकसभा चुनाव में मिले वोट (58 प्रतिशत) से 25 प्रतिशत कम हो गए। विधानसभा चुनाव में इनेलो के खराब प्रदर्शन के बारे में पूछे जाने पर अभय चौटाला ने कहा कि वे इसे लेकर कार्यकर्ताओं से सुझाव और उनकी राय ले रहे हैं।


तीखे बयान