लोकसभा, विधानसभा उप चुनावों में सीटों के बराबर बंटवारे की तरफ बढ़ रही हैं भाजपा और कांग्रेस

LSChunav     May 03, 2021
शेयर करें:   
लोकसभा, विधानसभा उप चुनावों में सीटों के बराबर बंटवारे की तरफ बढ़ रही हैं भाजपा और कांग्रेस

आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु के चार लोकसभा क्षेत्रों में जबकि 10 राज्यों के 12 विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव कराए गए थे। कन्याकुमारी लोकसभा सीट और मलाप्पुरम लोकसभा सीट पर छह अप्रैल को उपचुनाव हुए थे जबकि बाकी सभी लोकसभा और विधानसभी सीटों पर 17 अप्रैल को उपचुनाव हुए थे।

भाजपा और कांग्रेस ने रविवार को 13 राज्यों में हुए उप चुनावों में लगभग बराबर सीटें जीतीं या उनपर आगे चल रही हैं। आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु के चार लोकसभा क्षेत्रों में जबकि 10 राज्यों के 12 विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव कराए गए थे। कन्याकुमारी लोकसभा सीट और मलाप्पुरम लोकसभा सीट पर छह अप्रैल को उपचुनाव हुए थे जबकि बाकी सभी लोकसभा और विधानसभी सीटों पर 17 अप्रैल को उपचुनाव हुए थे। विधानसभा उपचुनावों में भाजपा ने पांच सीटें जीतीं या उनपर आगे चल रही है, कांग्रेस चार सीटों पर जबकि तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस),झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) और जोराम पीपुल्स मूवमेंट (जेडपीएम) एक-एक सीट जीत चुकी है या उनपर बढ़त बनाए हुए है। हालांकि नतीजों का संबंधित सरकारों के निकट भविष्य पर कोई असर नहीं होगा। तमिलनाडु में कन्याकुमारी लोकसभा सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार विजय वसंत भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी राधाकृष्णन से आगे चल रहे हैं। वसंत के पिता और दिग्गज कांग्रेस नेता एच वसंत कुमार की पिछले साल कोविड-19 से मृत्यु होने की वजह से सीट पर उपचुनाव कराने की जरूरत पड़ी। 

आंध्र प्रदेश के तिरुपति लोकसभा सीट पर वाईएसआर कांग्रेस के एम गुरुमूर्ति ने तेलुगू देशम की पनाबाका लक्ष्मी को 2,71,592 वोटों के भारी अंतर से हराया। भाजपा के ए एम सुरेश ने कर्नाटक की बेलगाम लोकसभा सीट पर कांग्रेस के सतीश एल जरकीहोली को 5,240 वोटों के अंतर से शिकस्त दी। इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के अब्दुस्समद समदानी ने माकपा के वी पी सानू को 1,14,615 वोटों के विशाल अंतर से हराकर केरल की मलाप्पुरम लोकसभा सीट पर जीत हासिल की। कांग्रेस ने राजस्थान की तीन में से दो विधानसभा सीटों के उपचुनाव में जीत हासिल की जबकि भाजपा के खाते में एक सीट गयी। सुजानगढ़ सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार मनोज कुमार ने भाजपा के खेमाराम को 35,611 वोटों से जबकि सहारा सीट पर गायत्री त्रिवेदी ने भाजपा के रतनलाल जोत को 42,200 वोटों के अंतर से परास्त किया। वहीं भाजपा उम्मीदवार दीप्ति किरण महेश्वरी ने राजसमंद सीट पर कांग्रेस के तनसुख बोहरा को 5,310 वोटों से हराया। कर्नाटक में भाजपा ने बसवकल्याण विधानसभा सीट जीती जबकि कांग्रेस अपनी मस्की विधानसभा सीट बचाने में सफल रही। बसवकल्याण सीट पर भाजपा के एस सलागर ने कांग्रेस उम्मीदवार माला बी नारायण राव को 20,629 वोटों से जबकि मस्की सीट पर कांग्रेस के बी तुर्वीहल ने भाजपा उम्मीदवार प्रथापगौड़ा पाटिल को 30,606 वोटों से हराया। गुजरात की मोर्वा हदस (अनुसूचित जनजाति) सीट पर भाजपा उम्मीदवार निमिषा सुथर ने कांग्रेस के सुरेश कटारा को 45,649 वोटों के अंतर से हराया। 

मध्य प्रदेश में दमोह सीट पर कांग्रेस के अजय कुमार टंडन आगे चल रहे हैं। महाराष्ट्र में सत्ताधारी महा विकास आघाड़ी (एमवीए) को झटका देते हुए भाजपा उम्मीदवार समाधान आवताड़े ने सोलापुर जिले की पंढरपुर-मंगलवेढ़ा विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में जीत हासिल की है। अधिकारियों ने बताया कि आवताड़े ने अपने निकतटम प्रतिद्वंद्वी राकांपा उम्मीदवार को 3,700 से ज्यादा मतों के अंतर से शिकस्त दी। आवताड़े ने एमवीए उम्मीदवार भागीरथ भालके को हराया जो दिवंगत राकांपा नेता भरत भालके के बेटे हैं। प्रदेश में राकांपा, शिवसेना व कांग्रेस गठबंधन की सरकार है। उत्तराखंड के सल्ट विधानसभा सीट के उपचुनाव में भाजपा के महेश जीना ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस के गंगा पंचोली को 4,697 वोटों के अंतर से हराया। मिजोरम में सेरछिप विधानसभा सीट के उपचुनाव में सत्तारुढ़ मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) को चिर प्रतिद्वंदी जेडपीएम के उम्मीदवार लालडुहोमा के हाथों करारी शिकस्त झेलनी पड़ी। जेडपीएम उम्मीदवार ने 2,950 वोटों के अंतर से जीत हासिल कर सीट बरकरार रखी। लालडुहोमा को दल बदल रोधी कानून के तहत अयोग्य करार दिए जाने के बाद सीट पर उपचुनाव कराने की जरूरत पड़ी थी। सत्तारुढ़ टीआरएस ने तेलंगाना की नागार्जुन सागर विधानसभा सीट बनाए रखी। पार्टी उम्मीदवार नोमुला भगत ने कांग्रेस उम्मीदवार के जे रेड्डी को 18,872 वोटों के अंतर से हराया। वहीं भाजपा उम्मीदवार की जमानत जब्त हो गयी। वहीं झारखंड में सत्तारुढ़ झामुमो के हजीफुल हुसैन ने मधुपुर विधानसभा सीट पर भाजपा के गंगा नारायण सिंह को 5,247 वोटों के अंतर से परास्त किया। ओडिशा में पिपली विधानसभा सीट का उपचुनाव 14 अप्रैल को कांग्रेस उम्मीदवार अजित मंगाराज के कोविड-19 से निधन के बाद स्थगित कर दिया गया था। नगालैंड में नोकसेन विधानसभा सीट के उपचुनाव में एनडीपीपी के एच चुबा चांग को निर्विरोध निर्वाचित किया गया। वह नामांकन दायर करने वाले अकेले उम्मीदवार थे।