शुक्रवार, 22 नवम्बर 2019 | समय 21:02 Hrs(IST)

चुनाव परिणाम आने के 11 दिन बाद भी महाराष्ट्र में संशय जारी, जानिए कौन बनेगा मुख्यमंत्री !

By LSChunav | Publish Date: 11/5/2019 8:25:02 AM
चुनाव परिणाम आने के 11 दिन बाद भी महाराष्ट्र में संशय जारी, जानिए कौन बनेगा मुख्यमंत्री !

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर पिछले कुछ दिनों से भाजपा और शिवसेना के बीच तनातनी चल रही है। शिवसेना के नेता राकांपा प्रमुख शरद यादव के संपर्क में भी हैं।

नयी दिल्ली। महाराष्ट्र में सरकार गठन पर संशय जारी रहने के बीच भाजपा सूत्रों ने सोमवार को कहा कि पार्टी इस बात का इंतजार करेगी कि अगले कुछ दिनों में स्थिति क्या मोड़ लेती है क्योंकि अब गेंद उसके सहयोगी शिवसेना के पाले में है। भाजपा नेता और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राष्ट्रीय राजधानी में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह समेत पार्टी के राष्ट्रीय नेताओं से कई बैठकें कीं। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में जल्द से जल्द सरकार बनाने की जरूरत है और उन्हें विश्वास है कि ऐसा कर लिया जाएगा। लेकिन बाद में फड़णवीस ने ट्वीट किया कि बेमौसम बारिश से प्रभावित किसानों के वास्ते केंद्र से और सहायता की मांग करने के लिए वह शाह से मिले थे और उन्हें इस पर एक विस्तृत रिपोर्ट सौंपी।

इसे भी पढ़ें: अमित शाह से मुलाकात के बाद फडणवीस ने किसानों की मदद का जताया भरोसा

उन्होंने कहा कि (हमने) नियमों में ढील देने के लिए केंद्र द्वारा बीमा कंपनियों के साथ एक बैठक बुलाने और किसानों को अधिकतम सहायता देने का अनुरोध भी किया। माननीय केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जी ने तत्काल संबंधित अधिकारियों को यह बैठक तय करने को कहा। फड़णवीस ने राष्ट्रीय राजधानी में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और महाराष्ट्र के चुनाव संबंधी पार्टी प्रभारी भूपेंद्र यादव के साथ भी बैठक की। उन्होंने यादव के साथ एक घंटा बिताया। पार्टी सूत्रों ने कहा कि पार्टी गठबंधन में बनी हुई है और उसने हमेशा गठबंधन धर्म की भावना से काम किया है, जहां तक महाराष्ट्र में सरकार गठन का सवाल है तो गेंद शिवेसना के पाले में है।

इसे भी पढ़ें: सोनिया से मिलने के बाद बोले पवार, लोगों ने विपक्ष में बैठने का दिया जनादेश

सूत्रों ने कहा कि भाजपा इंतजार करेगी और देखेगी कि अगले कुछ दिनों में स्थिति क्या मोड़ लेती है। महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर पिछले कुछ दिनों से भाजपा और शिवसेना के बीच तनातनी चल रही है। शिवसेना के नेता राकांपा प्रमुख शरद यादव के संपर्क में भी हैं। राकांपा ने कांग्रेस के साथ गठजोड़ में विधानसभा चुनाव लड़ा था। पिछले विधानसभा चुनाव के विपरीत इस बार भाजपा और शिवेसना ने मिलकर चुनाव लड़ा था तथा भाजपा ने 105 सीटें और शिवसेना ने 56 सीटें जीतीं। दोनों ही पार्टियों के बीच मुख्यमंत्री के पद को लेकर तनातनी है। शिवसेना ढाई ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद मांग रही है जिसे भाजपा खारिज कर चुकी है।


Related Story

तीखे बयान