शनिवार, 6 जून 2020 | समय 12:59 Hrs(IST)

भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण से पहली मौत, स्वास्थ्य मंत्री श्रीरामुलु ने की पुष्टि

By LSChunav | Publish Date: 3/13/2020 7:57:00 AM
भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण से पहली मौत, स्वास्थ्य मंत्री श्रीरामुलु ने की पुष्टि

कर्नाटक में दो दिन पहले हुई 76 वर्षीय एक बुजुर्ग व्यक्ति की मौत भारत में कोरोना वायरस संक्रमण से हुई पहली मृत्यु है। श्रीरामुलु ने बताया कलबुर्गी के 76 वर्षीय व्यक्ति, जिसकी मृत्यु हो गयी थी और जो कोविड-19 संक्रमण का संदिग्ध मरीज था, उसमें कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई है।

बेंगलुरु। कर्नाटक में दो दिन पहले हुई 76 वर्षीय एक बुजुर्ग व्यक्ति की मौत भारत में कोरोना वायरस संक्रमण से हुई पहली मृत्यु है। राज्य सरकार ने गुरुवार को बताया कि इस व्यक्ति के कोरोना वायरस से संक्रमित होने का संदेह था, जिस कारण उसका इलाज चल रहा था। मृत्यु पूर्व लिए गए उसके नमूनों की जांच में कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलु ने ट्वीट किया कि इस व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों का पता लगाने, उन्हें पृथक रखने और प्रोटोकॉल में शामिल अन्य कदम उठाए जा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस: दिल्ली में स्कूल, कॉलेज और सिनेमाघर 31 मार्च तक बंद

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नयी दिल्ली में बताया कि 29 जनवरी से 29 फरवरी तक सउदी अरब की यात्रा पर रहे व्यक्ति की मौत ‘‘एक से ज्यादा बीमारियों के कारण हुई है और उसके कोरोना वायरस से भी संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।’’ अधिकारी ने बताया कि यह व्यक्ति 29 फरवरी को हैदराबाद पहुंचा और वहां से कर्नाटक में कलबुर्गी गया। श्रीरामुलु ने ट्वीट किया, ‘‘कलबुर्गी के 76 वर्षीय व्यक्ति, जिसकी मृत्यु हो गयी थी और जो कोविड-19 संक्रमण का संदिग्ध मरीज था, उसमें कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई है। उसके संपर्क में आए लोगों का पता लगाने, उन्हें पृथक रखने और प्रोटोकॉल में शामिल अन्य कदम उठाए जा रहे हैं।’’

राज्य के संयुक्त निदेशक, संक्रामक रोग, बी.जी. प्रकाश कुमार ने कहा कि शव के अंतिम संस्कार में सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘शव को पूरी तरह संक्रमण रहित किया और भारत सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।’’ उन्होंने बताया कि तेलंगाना सरकार को भी सूचित किया जा रहा है क्योंकि उक्त व्यक्ति पहले हैदराबाद के एक निजी अस्पताल में गया था। कर्नाटक के अधिकारियों ने मंगलवार को उसकी मृत्यु की घोषणा करते हुए कहा था कि मौत के कारणों का पता लगाया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस के 11 मरीजों में संक्रमण के हल्के लक्षण: उद्धव ठाकरे

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी के अनुसार, सउदी अरब से वापसी के बाद उसमें वायरस संक्रमण के कोई लक्षण नहीं थे। बाद में छह मार्च को उसे बुखार और खांसी हुई। एक डॉक्टर ने उसके घर जाकर उसे देखा और इलाज किया। उन्होंने बताया, लक्षण ज्यादा दिखने पर नौ मार्च को उसे कलबुर्गी के निजी अस्पताल में भती्र कराया गया। इस निजी अस्पताल में उसके वायरल न्यूमोनिया से ग्रस्त होने और कोविड-19 से संक्रमित होने की आशंका की बात सामने आयी।

अधिकारी ने बताया कि नौ मार्च को व्यक्ति का नमूना लिया गया... जांच रिपोर्ट का इंतजार किए बगैर उसके तीमारदारों ने जोर दिया कि मरीज को अस्पताल से छुट्टी दे दी जाए और वे उसे हैदराबाद के एक निजी अस्पताल में ले गए। मरीज को हैदराबाद के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसका इलाज हुआ। उसे मंगलवार को कलबुर्गी स्थित गुलबर्गा मेडिकल साइंस संस्थान लाया जा रहा था, उसी दौरान उसकी मौत हो गयी। कर्नाटक में अभी तक पांच लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है।


Related Story

तीखे बयान